पृथ्वी दिवस पर स्वच्छ, स्वस्थ और समृद्ध ग्रह के लिए सब लें संकल्प : मोदी

नई दिल्ली, 21 अप्रैल (हि.स.). प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ‘अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी दिवस’ के मौके पर सभी से एक स्वच्छ, स्वस्थ और अधिक समृद्ध ग्रह की दिशा में काम करने का संकल्प लेने की अपील की है. वहीं उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने भी पर्यावरण संतुलन और संरक्षण का आह्वान किया.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना महामारी का उल्लेख करते हुए कोविड-19 के योद्धाओं का भी उत्साहवर्धन करने की अपील की. मोदी ने ट्वीट संदेश में कहा, अंतरराष्ट्रीय पृथ्वी दिवस पर हम सभी देखभाल और करुणा की प्रचुरता के लिए अपने ग्रह का आभार व्यक्त करते हैं.

आइए हम एक स्वच्छ, स्वस्थ और अधिक समृद्ध ग्रह की दिशा में काम करने का संकल्प लें. कोविड-19 को हराने के लिए अगली पंक्ति में खड़े होकर काम कर रहे लोगों को भी प्रोत्साहित करें.

वहीं उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने भी ट्वीट कर लोगों से पर्यावरण संतुलन और संरक्षण की अपील की. उन्होंने संदेश में कहा कि आज अर्थ डे पर पृथ्वी के पर्यावरण के संतुलन को बहाल करने और उसके विविधतापूर्ण परिवेश का संरक्षण करने का संकल्प लें.

ये समझें कि मनुष्य इस पृथ्वी को अन्य जीव, जंतुओं और वनस्पति से साथ साझा करता है, उनका भी इस पृथ्वी पर उतना ही अधिकार है जितना मनुष्य का. उन्होंने कहा कोविड 19 के विरुद्ध मनुष्य के अभियान ने हमारी विकास की अवधारणा पर गहरे सवाल उठाए हैं, जिनका निराकरण करना मानव के अस्तित्व मात्र के लिए अपरिहार्य है.

हमें सोचना होगा कि आधुनिकीकरण की अंधी दौड़ में मानव ने प्रकृति को कितनी हानि पहुंचाई है.
वेंकैया ने कहा कि अर्थ डे के अवसर पर एकात्म मानववाद के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय के उस मंत्र का स्मरण करें कि प्रकृति सम्मत विकास ही संस्कृति है, प्रकृति को नष्ट कर किया हुआ विकास विकृति उत्पन्न करेगा. अपने सनातन संस्कारों, अपने शांति मंत्रों से सीखें, उनसे मार्गदर्शन लें.

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील

Leave a Reply

%d bloggers like this: