कोरोनाकाल में भी धूमधाम से मनेंगे त्योहार, गरीबों को नवंबर तक मिलेगा मुफ्त अनाज

पीएम मोदी ने कोरोना काल के दौरान आज (मंगलवार को) छठी बार देश की जनता को संबोधित किया. देश में आने वाले महीनों में नवरात्रि, दशहरा, दिवाली और छठपूजा जैसे महत्वपूर्ण त्योहार आने वाले हैं. इन बातों को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने बड़ा ऐलान किया.

पीएम ने अपने संबोधन में कहा कि कोरोना से लड़ते-लड़ते अब त्यौहारों के मौसम तक आ गए हैं. अब लोगों के खर्चे भी बढ़ जाएंगे. ऐसे में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को नवंबर तक बढ़ा दिया गया है, ताकि कोई गरीब और बेसहारा भूखा न सोए.

पीएम मोदी ने कोरोना की लड़ाई का पूरा श्रेय किसानों और टैक्स पेयर्स को दिया. उन्होंने कहा कि किसानों से पैदा हुए अनाज की वजह से कोई भूखा नहीं सो पाया तो आयकरदाताओं की वजह से इस मुश्किल लड़ाई को लड़ने में आसानी हुई.

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने एक राष्ट्र और एक राशन कार्ड का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि इससे एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने वाले प्रवासी को फायदा मिलेगा. उन्होंने कहा कि इसका लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा जो रोजगार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गांव छोड़कर कहीं और जाते हैं, किसी और राज्य में जाते हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि जुलाई से धीरे-धीरे त्यौहारों का भी माहौल बनने लगता है. 5 जुलाई को गुरुपूर्णिमा, फिर सावन, 15 अगस्त, रक्षाबंधन, कृष्ण जन्माष्टमी और आगे जाएं तो दशहरा, दीपावली और छठ मैया की पूजा है, जो जरूरतों के साथ ही खर्च भी बढ़ाता है.

उन्होंने कहा कि इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ही प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीपावली और छठ पूजा तक यानि नवंबर महीने तक कर दिया गया है. इससे 80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मुफ्त अनाज मिलेगा.

पीएम ने कहा कि सरकार द्वारा इन 5 महीनों के लिए 80 करोड़ से ज्यादा गरीब भाई-बहनों को हर महीने परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेंहूं या चावल मुफ्त मुहैया कराया जाएगा. साथ ही, प्रत्येक परिवार को हर महीने एक किलो चना भी मुफ्त दिया जाएगा. इस विस्तार पर 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च होंगे.

Leave a Reply

%d bloggers like this: