10 साल बाद एक मंच पर साथ नजर आए मोदी-नीतीश और पासवान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार रविवार को पटना के गाँधी मैदान में लम्बे अंतराल के बाद राजनीतिक रैली में एक साथ शामिल होंगे और रैली को सम्बोधित करेंगे .

सत्तारूढ़ राजग की तरफ से पटना के ऐतिहासिक गांधी मैदान में आयोजित इस संकल्प रैली में नरेंद्र मोदी और नीतीश कुमार राजनीतिक मंच साझा करेंगे . इससे पहले दोनों नेताओं ने सरकारी और धार्मिक कार्यक्रमों में कई बार मंच साझा किया था.

इस संकल्प रैली की सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं . राजग के घटक दलों के पोस्टर- बैनर से पूरा शहर पट गया है. भाजपा के राज्यसभा सांसद तथा बिहार में पार्टी मामलों के प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने कहा कि रैली के लिए राजग के सभी घटक दलों ने एकजुट हो कर तैयारी की है.

राज्य मुख्यालय सूत्रों ने बताया कि रैली के मद्देनज़र सुरक्षा -व्यवस्था कड़ी कर दी गई है. सुरक्षा के दृष्टिकोण से गुरुवार की शाम से ही गांधी मैदान में लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है.
गाँधी मैदान के सभी प्रवेश द्वार पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है .

सूत्रों ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था में चार हजार से अधिक जवानों को लगाया गया है . इस बीच राज्य मुख्यालय ने रैली को देखते हुए अलर्ट जारी किया है .पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पाण्डेय ने राजधानी समेत आसपास के इलाकों में सुरक्षा बढ़ाने का निर्देश दिया.

सार्वजनिक चौक -चौराहों पर पुलिस गश्त बढ़ा दी गई है. इस बीच रैली स्थल गांधी मैदान की कमान एसपीजी की टीम ने संभाल ली .रैली को देखते हुए रविवार को शहर के सभी सरकारी तथा 10 प्राइवेट अस्पतालों को भी अलर्ट किया गया है .

सभी चिकित्सकों और पारा मेडिकल स्टाफ की रविवार की छुट्टी रैली को लेकर रद्द कर दी गई है तथा आईजीआईएमएस , पीएमसीएच और एनएमसीएच में ओटी, आईसीयू बेड, और खून सुरक्षित रखने को कहा गया है .

रैली को देखते हुए राजधानी पटना की यातायात व्यवस्था में भी परिवर्तन किया गया है . रैली में प्रधानमंत्री मोदी के अलावा बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी, केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे.