झारखंड-सीएम हेमंत सोरेन ने रांची के RIMS में किया प्लाज्मा बैंक का उद्घाटन, डोनेट करने वालों को मिलेंगे 1000 रुपये

4
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. झारखंड (Jharkhand) में भी कोरोना के गंभीर मरीजों का इलाज प्लाज्मा थेरेपी (Plasma Treatment) से रिम्स में हो सकेगा. झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) ने आज मंगलवार को रांची के राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (RIMS) में गंभीर रूप से बीमार कोरोना रोगियों के लिए प्लाज्मा दान केंद्र का शुभारंभ किया.

इस मौके पर उन्होंने कहा कि ‘मैं उन सभी मरीजों से प्लाज्मा दान करने के लिए अनुरोध करता हूं, जो कोरोना से ठीक हुए हैं. प्लाज्मा दान करना काफी साहसिक और सामाजिक सद्भाव का उदाहरण है. रिम्स (RIMS) के ब्लड बैंक को प्लाज्मा कलेक्शन के लिए पूरी तरह तैयार किया गया है. हेमंत सोरेन ने कहा कि समाज में कोई अफ़रातफ़री नहीं है. आप सभी सहयोग करें. हम लोग बेहतर करेंगे.

उन्होंने कहा कि प्लाज्मा डोनेट करने वालों को एक हजार रुपये दिये जायेंगे. आइसीएमआर (ICMR) की गाइडलाइन के मापदंड पर पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री मिथिलेश ठाकर सही नहीं पाये गये हैं. इसलिए उनका प्लाज्मा नहीं लिया जा सकेगा. इनमें एसिंप्टोमेटिक कोरोना वायरस पाया गया था. कोई लक्षण नहीं पाया गया था. इनका 28 दिन पूरा नहीं हो पाया है.

हेमंत सोरेन ने कहा कि राज्‍य में स्‍वास्‍थ्‍यकर्मी कई बार संक्रमित हो गए. पुलिस का एक जवान भी मारा गया जो दुखद है. रिम्स में आज ये पहला क़दम है. अन्य मेडिकल कॉलेज में भी इसकी शुरुआत करेंगे.

प्लाज्मा थेरेपी के माध्यम से कोरोना पीडि़तों के इलाज करने की प्रक्रिया कई राज्यों में शुरू हो चुकी है. अब रिम्स में इसकी शुरुआत होने के बाद राज्य के गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों को इसका फायदा मिलेगा.

देश में पिछले 24 घंटे में 47,704 नए मामले सामने आए हैं और 654 लोगों की मौत हुई है. देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 14,83,157 हो गई है. अब तक देश में कोरोना वायरस से 33,425 लोगों की मौत हो चुकी है.