मंदिर में ई-दर्शन, दर्शन करना नहीं होता: सुप्रीम कोर्ट

SUPREME COURT
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
  • झारखंड के बाबा वैद्यनाथ मंदिर में केवल ई-दर्शन की इजाजत के खिलाफ याचिका हुई दायर

नई दिल्ली, 31 जुलाई (हि.स.). सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कहा है कि मंदिर में ई-दर्शन, दर्शन करना नहीं होता है. कोरोना महामारी (Corona Virus) के संकट के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने यह टिप्पणी झारखंड के देवघर में बाबा वैद्यनाथ मंदिर (Baba Vaidyanath Temple) में भक्तों को दर्शन के लिए केवल ई-दर्शन के ज़रिए दर्शन करने की इजाज़त होने के खिलाफ दायर याचिका पर की है.

सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार से कहा है कि कोरोना संकट काल में भीड़ न लगे, इसके लिए भक्तों को मंदिर में सीमित संख्या में दर्शन करने की व्यवस्था क्यों नहीं करते. इस मामले में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने झारखंड हाई कोर्ट (Jharkhand High Court) के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है, जिसमें बाबा वैद्यनाथ मंदिर में लोगों को ई-दर्शन की ही इजाजत दी है.

हिन्दुस्थान समाचार/संजय/सुनीत/बच्चन