लॉकडाउन का पालन नहीं करने का परिणाम जनता को ही भुगतना पड़ेगा : राज ठाकरे

Raj Thackery
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

मुंबई, 04 अप्रैल (हि.स.).महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने कहा है कि लॉकडाउन का पालन नहीं करने का परिणाम देश की जनता को ही भुगतना पड़ेगा.राज ठाकरे ने लोगों से लॉकडाउन का कठोरता से पालन करने की अपील की है.

राज ठाकरे ने प्रधानमंत्री के दिया जलाने वाले उपक्रम का मजाक भी उड़ाया है.उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को कोरोना से उबरने की उपाय योजना पर बात करना चाहिए था लेकिन देश के प्रधानमंत्री ने अपने आपको श्रद्धा-अंधश्रद्धा तक ही सीमित रखा.

राज ठाकरे ने कहा कि इस समय लॉकडाउन चल रहा है.यह स्थिति एक विशिष्ठ समाज के लोगों की लापरवाही से बढ़ी है.इस समाज के लोग अब भी पुलिस व डॉक्टरों के साथ गलत व्यवहार कर रहे हैं.इन सब पर सरकार को कठोर कार्रवाई करनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन की वजह से बहुत से लोग घर में बैठे हैं लेकिन बहुत से लोग लॉकडाउन का पालन नहीं कर रहे हैं.इससे अगर लॉकडाउन का कार्यकाल बढ़ाया गया तो इसके दुष्परिणाम लोगों को ही भुगतने पड़ेंगे.

राज ठाकरे ने कहा कि लॉकडाउन बढ़ा तो उद्योग धंधे ठप हो जाएंगे और बेरोजगारी फैलेगी.उन्होंने कहा कि इस समय जो विकट स्थिति है, उस तरह की स्थिति 1992 के दंगों के दौरान भी नहीं दिखी थी.

राज ठाकरे ने कहा कि इस समय स्वास्थ्य विभाग की स्थिति बदतर नजर आ रही है.इसका कारण सरकार किसी की भी रही, सभी ने स्वास्थ्य विभाग के बजट में कटौती की है.

अस्पतालों में उपकरण नदारद हैं.मेडिकल स्टाफ कम पड़ रहा है.साथ ही अगर लोग लॉकडाउन का इसी तरह उल्लंघन करते रहे तो हर राज्यों में होने वाली अनाज-सब्जियों की आपूर्ति भी प्रभावित हो सकती है।

हिन्दुस्थान समाचार/राजबहादुर