#ELECTION2019: चुनाव आयोग की लापरवाही, नदी पार कर जाना पड़ रहा मतदान करने

फतेहपुर के तीन गांवों के लोग एक किमी पैदल चलकर जा रहे बूथ पर वोटिंग करने जा रहें है.

फतेहपुर. एक तरफ जहां मतदान का प्रतिशत बढ़ाने के लिए निर्वाचन आयोग एड़ी-चोटी का जोर लगा रहा है. वहीं दूसरी तरफ उसकी लापरवाही भी उजागर हो रही है. इस कारण मतदाताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसा ही मामला फतेहपुर के जहानाबाद विधानसभा (तहसील बिंदकी) के ग्राम सभा कृपालपुर में देखने को मिला है.

जहां के तीन गांवों के लोगों को नदी पार कर एक किमी पैदल चलकर मतदान करने जाना पड़ रहा है. प्रशासन की तरफ से न तो नदी पर पुल बनाई गयी है और न ही कोई अन्य व्यस्था की गयी है.
जहानाबाद के कृपालपुर ग्राम सभा में रिन्द नदी के दूसरे छोर पर बूथ बने होने के कारण बैरमपुर, जवाहरपुर और बिंदा के लगभग 1500 मतदाताओं को घुटने भर से अधिक पानी में प्रवेश कर वोट डालने जाना पड़ रहा है. ऐसे में महिला मतदाताओं को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है. सोमवार सुबह से ही लोग मतदान के लिए तैयारी करने लगे थे.

बैरमपुर के ओम प्रकाश, गया प्रसाद, छेदा लाल का कहना है कि आजादी के बाद से ही मतदान केंद्र को अपने गांव के नजदीक करने की मांग की जा रही है लेकिन प्रशासन के कान पर जूं नहीं रेंगती. वहीं जवाहरपुर के बृज लाल, छोटे लाल, श्याम लाल, हरी लाल, अशोक कुमार, राम कुमार का कहना है कि रिंद नदी में कभी-कभी अचानक ऊफान भी आ जाता है.

ऐसे में प्रशासन की लापरवाही भारी पड़ सकती है. प्रशासन की लापरवाही के कारण कुछ लोग मतदान से वंचित भी रह जाते हैं. बिंदा की सुमित्रा और ऊषा देवी ने बताया कि प्रशासन के लापरवाही के कारण ही बिना चूल्हा जलाए पहले मतदान करने हम लोग आ गयीं.

वहीं बिंदकी के एसडीएम आशीष का कहना है कि इस संबंध में पहले से कोई ज्ञापन हमें नहीं मिला है. मतदाताओं को घर से निकलवाकर अधिकतम मतदान कराने का प्रयास किया जा रहा है.

हिन्दुस्थान समाचार/लईक

%d bloggers like this: