शेवड़ाफूली सब्जी मंडी में उड़ रही है सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां, डीएम ने दिया कार्यवाही का आश्वासन

(File Photo)
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

श्रीरामपुर. पिछले 24 मई की रात आठ बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में लॉक डाउन की घोषणा की थी और हाथ जोड़कर लोगों से अपने अपने घरों में रहने की अपील की थी. देश के बड़े हिस्से में इसका असर देखने को भी मिला. लोग अपने घरों में बंद रहे. बाहर निकलने वालों पर प्रशासन ने भी सख्ती दिखाई. लेकिन पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में स्थित शेवड़ाफूली सब्जी मंडी पर इस लॉक डाउन का कोई प्रभाव देखने को नहीं मिल रहा है. रोज की तरह रविवार सुबह भी इस सब्जी मंडी में सब्जी विक्रेताओं और क्रेताओं की भारी भीड़ उमड़ी.

शेवड़ाफूली जंक्शन रेलवे स्टेशन से सटे इस सब्जी मंडी से हुगली जिले व पड़ोसी जिलों के विभिन्न भागों में सब्जियों की आपूर्ति होती है. शेवड़ाफूली जंक्शन रेलवे स्टेशन पर जीआरपी थाना है और इस सब्जी मंडी से 500 मीटर से भी कम दूरी पर शेवड़ाफूली पुलिस चौकी है. लेकिन लॉक डाउन के बावजूद प्रशासन के नाक के नीचे इस सब्जी मंडी में अनियंत्रित भीड़ उमड़ रही है.

नाम न छापने की शर्त पर एक स्थानीय व्यवसायी ने बताया प्रतिदिन सुबह चार बजे से लेकर सात बजे तक इस बाजार में सब्जी क्रेता और विक्रेताओं की भारी भीड़ उमड़ती है. भीड़ इतनी होती है कि पैदल चलना तक मुश्किल हो जाता है. कोरोना के खतरे को देखते हुए लॉक डाउन के दौरान यह आशा की जा रही थी कि कम से कम इस बाजार में भी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन होगा. लेकिन प्रशासन के नाक के नीचे इस बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की रोज धज्जियां उड़ाई जा रही हैं. लॉक डाउन के बावजूद इस बाजार में उमड़ रही भीड़ के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण का खतरा लगातार मंडरा रहा है. कई लोग तो इस बाजार में मास्क पहनकर नहीं आते. सैनिटाइजर और हैंड ग्लव्स बहुत दूर की बात है. रविवार को “हिंदुस्थान समाचार” के पत्रकार ने इस मामले में हुगली जिले के जिलाधिकारी वाई. रत्नाकर राव को अवगत करवाया तो उन्होंने मामले में तुरंत कार्यवाही करने का आश्वासन दिया एवं जानकारी देने के लिए “हिंदुस्थान समाचार” के प्रति आभार व्यक्त किया.

हिन्दुस्थान समाचार/धनंजय