पेटीएम हेडक्‍वाटर का फाइल फोटो
  • कंपनी के प्रमुख विजय शेखर शर्मा ने मंगलवार को ये जानकारी दी
  • जांच में ये सामने आया कि कंपनी के कुछ जूनियर कर्मचारियों ने विक्रेताओं से सांठगाठ की

मुंबई/नई दिल्‍ली. ऑनलाइन पेमेंट कंपनी पेटीएम ने 10 करोड़ रुपए से अधिक की धोखाधड़ी का पता लगाया है. कंपनी ने इस धोखाधड़ी के सामने आने के बाद कई इंप्लॉइज को बर्खास्त कर दिया है. साथ ही सैकड़ों की संख्या में विक्रेताओं को भी अपने प्लैटफार्म से हटा दिया है. 

कंपनी के प्रमुख विजय शेखर शर्मा ने मंगलवार को ये जानकारी दी. दरअसल कंपनी ने छोटे दुकानदारों और विक्रेताओं को कुल कैशबैक का बड़ा हिस्सा मिलने की जांच की है, जिसके बाद यह धोखाधड़ी सामने आई है.

जूनियर इंप्लॉइज की थी मिलीभगत

शर्मा ने बताया कि दिवाली के बाद मेरी टीम ने पाया कि कुछ विक्रेताओं को कुल कैशबैक का ज्यादा फीसदी हासिल हुआ है. हमने अपने ऑडिटरों को इसकी अधिक गहराई से जांच के लिए कहा. कंपनी ने इसके लिए परामर्श कंपनी EY (ईवाई) की सेवाएं लीं है.

जांच में ये सामने आया कि कंपनी के कुछ जूनियर कर्मचारियों ने विक्रेताओं से सांठगाठ की. वहीं, कुछ कर्मचारियों ने थर्ड पाटी वेंडरों के साथ सांठगाठ कर फर्जी ऑर्डर्स के जरिए कैशबैक को इधर-उधर किया.

विजय शेखर शर्मा का फाइल फोटो

10 करोड़  से अधिक की धोखाधड़ी

शर्मा ने कहा कि यह धोखाधड़ी दो अंको में जो निश्चित तौर पर 10 करोड़ रुपए से अधिक की है. उन्होंने कहा कि गड़बड़ी करने वाले कर्मचारियों को हटाया गया है. साथ ही सैकड़ों विक्रेताओं को भी हटाया गया है. हमने यह सुनिश्चित किया है कि हमारे प्लैटफार्म पर सिर्फ ब्रैंडेड विक्रेता रहें. उन्होंने कहा कि ऐसे कड़े कदमों से विक्रेताओं की संख्या तो कम हुई है, लेकिन इससे हमारे कंज्यूमर्स को बेहतर इकोसिस्टम मिल सकेगा.

Trending Tags- Patym News | Latest News on Patym| Patym New Update Today |mueller Investigation News