पतंजलि की कोरोनिल पर राजस्थान के बाद महाराष्ट्र में पाबंदी

Coronil Medicine
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

मुंबई, महाराष्ट्र।

आयुष मंत्रालय के बाद अब महाराष्ट्र सरकार ने भी बाबा रामदेव ने कोरोना की दवा पर प्रतिबंध लगा दिया है. गृहमंत्री अनिल देशमुख ने बाबा रामदेव की कोरोनिल औषधि की विक्री पर राज्य में पाबंदी लगा दी है.

देशमुख ने कहा है कि इस औषधि को आयुष मंत्रालय ने मंजूरी नहीं दी है, इसलिए यह औषधि लोगों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है. देशमुख ने बताया कि बाबा रामदेव द्वारा जारी पतंजलि की कोरोनिल औषधि को नेशनल इंस्टीट्युट ऑफ मेडिकल साइंस ने अभी तक मान्यता नहीं दी है.

उन्होंने कहा कि जब तक दवा को मान्यता नहीं मिल जाती तब तक इस औषधि की विक्री आम नागरिकों के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकती है. अत: इस औषधि की विक्री पर रोक लगाई जा रही है.

इससे पहले राजस्थान सरकार ने कहा था कि आयुष मंत्रालय की अनुमति के बिना कोरोना की दवा के रूप में किसी भी आयुर्वेदिक दवा को नहीं बेचा जा सकता है. अगर को इसे बेचते पकड़ा जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी.

बता दें कि उत्तराखंड सरकार ने कहा है कि बाबा रामदेव ने पहले कोरोनिल को सिर्फ इम्युनिटी बढ़ाने की दवा के रूप में अनुमति मांगी थी. और अब बाबा रामदेव कोरोनिल को कोरोना की असरकारक दवा के रूप में प्रचारित कर रहे हैं. इसे आयुष मंत्रालय ने अभी अनुमति नहीं दी है.

महाराष्ट्र में कोरोना से हालात काफी खराब हो रहे हैं. प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या बढ़कर 6 हजार 739 हो गई है. आज राज्य में 3 हजार 890 कोरोना मरीज पाए गए हैं. सूबे में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 1 लाख 42 हजार 900 हो गई है.

हिन्दुस्थान समाचार/राजबहादुर