हरियाणा में भारत बंद का आंशिक असर, भारी पुलिस बल तैनात, अधिकारियों ने संभाला मोर्चा ,

  • राज्य सरकार द्वारा हड़ताल को गैर वाजिब करार दिये जाने के बावजूद कर्मचारी अपने-अपने कार्यलयों के बाहर गेट मीटिंग करके सरकार की दमनकारी नीतियों का विरोध कर रहे हैं
  • नारनौल में भी रोडवेज महाप्रबंध ने पुलिस की मौजूदगी में बसों को सड़कों पर उतारा. सुबह करीब नौ बजे तक यहां से 24 बसें अपने गंत्तव्य की तरफ रवाना हुईं

चंडीगढ़, 08 जनवरी (हि.स.). केंद्र और राज्य सरकार की किसान, कर्मचारी व मजदूर विरोधी नीतियों के विरोध में बुधवार के भारत बंद का हरियाणा में अभी तक आंशिक असर दिखाई दे रहा है.

राज्य सरकार द्वारा हड़ताल को गैर वाजिब करार दिये जाने के बावजूद कर्मचारी अपने-अपने कार्यलयों के बाहर गेट मीटिंग करके सरकार की दमनकारी नीतियों का विरोध कर रहे हैं. हरियाणा के नारनौल, भिवानी, हिसार, रोहतक व झज्जर आदि जिलों में हड़ताल का मामूली असर दिखाई दे रहा है.

सरकार के साथ बैठक करके 7 जनवरी की चक्काजाम हड़ताल समाप्त करने वाले रोडवेजकर्मी आज के भारत बंद में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं. ज्यादातर रोडवेज डिपो से सुबह 4 से 6 बजे के बीच निकलने वाली बसें तो सड़कों पर उतरीं, लेकिन 7 बजे के करीब रोडवेज यूनियनों ओर कर्मचारी संगठनों द्वारा मोर्चा संभाल लिया गया और बसों को बस अड्डे और रोडवेज डिपो के भीतर ही रोक दिया गया.

सुबह करीब 9 बजे प्रदेश के ज्यादातर जिलों में बसें सड़कों पर न होने के कारण दैनिक यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

भिवानी में रोडवेज महाप्रबंध गुलाब सिंह ने सुबह ही भारी पुलिस बल के साथ बस अड्डे पर मोर्चा संभाला और बसों को रवाना किया. रोहतक में रोडवेज कर्मचारियों तथा अन्य कर्मचारी संगठनों के विरोध के बावजूद सुबह साढे नौ बजे तक हड़ताल का ज्यादा असर दिखाई नहीं दिया.

नारनौल में भी रोडवेज महाप्रबंध ने पुलिस की मौजूदगी में बसों को सड़कों पर उतारा. सुबह करीब नौ बजे तक यहां से 24 बसें अपने गंत्तव्य की तरफ रवाना हुईं. हिसार जिले में हड़ताल का ज्यादा असर दिखाई दे रहा है. यहां नियमित चालकों ने बसों को स्टेयरिंग नहीं संभाले तो प्रबंधकों ने अन्य चालकों के माध्यम से बसों को बाहर निकाला.

यहां सुबह सात बजे से पहले केवल दो बसें ही बाहर निकलीं. उसके बाद कोई बस अड्डे से बाहर नहीं निकली. इसके चलते यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

सिरसा में भी हड़ताल का असर दिखाई दे रहा है. यहां लंबे रूट की 13 में से केवल चार बसें ही सुबह साढ़े नौ बजे तक रवाना हुई. सोनीपत में भी हड़ताल का कोई असर नहीं दिखाई दिया. वहां से 8 बजे तक 35 बसें रवाना हुईं.

हिन्दुस्थान समाचार/संजीव

Trending News: Bharat Band News | Bharat Bandh January 2020 | Bharat Band Live Update

Leave a Reply

%d bloggers like this: