रमजान में पाक जनता की बल्ले-बल्ले, सरकार ने 15 रुपये और डीजल 27 रुपये प्रति लीटर किया सस्‍ता,

pak petrol
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. पाकिस्तान की खस्ता हालात के बारे में तो सारी दुनिया जानती है. लेकिन कोरोना वायरस ने पाक की बदहाली में कोई कसर नहीं छोड़ी है. बड़े से बड़ा देश भी कोरोना की मार को नहीं झेल पा रहा है. ऐसे में पाक की हालात तो पहले ही काफी खराब थी.

अपनी इस बेहद ही नाजुक हालात के बीच पाक ने एक बड़ा फैसला लिया है. दरअसल पाकिस्तानी सरकार ने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में भारी कटौती की घोषणा की है. पाकिस्तान की सरकार ने पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में 15 से 38 फीसद तक की कटौती की है.

पाक में पेट्रोल और डीजल की नई दरें आज यानी की शुक्रवार से लागू कर दी गई हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में हुई कटौती की वजह से पाक ने ये फैसला लिया है. इस कटौती का लाभ पाक अपनी जनता को देना चाहता है. जिसकी वजह से पाक ने यह कदम उठाया है.

पाकिस्तान की ऑयल एंड गैस रेगुलेटरी अथॉरिटी (ओजीआरए) पेट्रोलियम पदार्थों की कीमतों में करीब 57 फीसदी की कटौती की है. एक अधिकारी के मुताबिक, पेट्रोल की कीमतों में 15 रुपये और डीजल की कीमतों में 27 रुपये की गिरावट आ गई है.

 पाक सरकार के फैसले में पेट्रोल की एक्स-डीपो कीमत 81.58 रुपये प्रति लीटर तय की गई है. इसके साथ ही पाकिस्तानी सरकार ने इस पर टैक्स में भी 5.68 रुपये प्रति लीटर का इजाफा किया है.

पिछले महीने अंतरराष्ट्रीय तेल कीमतों में 52 फीसदी की गिरावट आई थी लेकिन सरकार ने देश में कीमतों में सिर्फ 12-13 फीसदी की ही कमी की थी. आर्थिक संकट से जूझ रही पाकिस्तान सरकार इस कदम के जरिए राजस्व को हो रहे नुकसान की भरपाई करना चाह रही थी.

पेट्रोल और हाई स्पीड डीजल की पाकिस्तान में सबसे ज्यादा खपत होती है और दोनों ही सरकारी राजस्व के मुख्य स्रोत हैं. हालांकि, कोरोना वायरस की महामारी के चलते पेट्रोलियम की खपत रिकॉर्ड स्तर पर घटने से सरकारी राजस्व का भी काफी नुकसान हो रहा है.