Opposition Leader (File)
Opposition Leader (File)

लोकसभा चुनाव में अभी एक चरण का चुनाव होना बाकी है, लेकिन अभी से सरकार बनाने के लिए कोशिश करना शुरू कर दिया है. नई सरकार बनाने के लिए सिर्फ यूपीए या एनडीए ही नहीं बल्कि थर्ड फ्रंट की भी कवायद शुरू हो गई है.

19 मई को अंतिम चरण यानी सातवें चरण के लिए वोटिंग होनी है, और 23 मई को नतीजे आने हैं. लेकिन जानकारी के मुताबिक 21 मई को सभी विपक्षी दल एक बैठक करने की तैयारी कर रहे हैं, बैठक में विपक्ष चुनाव के बाद भी अपनी ताकत और एकजुटता को दिखाने की कोशिश करेगा. सीपीआई के सांसद डी राजा का कहना है कि विपक्षी दल आपस में बैठक करेंगे और रणनीति बनाएंगे कि आखिर बीजेपी को कैसे सत्ता से हटाया जा सकता है.

डीएमके प्रमुख एमके स्टालिन से मुलाकात के दौरान उप-प्रधानमंत्री बनने की इच्छा जता चुके टीआरएस अध्यक्ष के. चंद्रशेखर राव भी 23 मई को एक बैठक करेंगे. जानकारी के मुताबिक इस बैठक में केसी राव भी विपक्ष के कई बड़े नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं. और नई सरकार में अपनी भूमिका को तय कर सकते हैं. पिछली मुलाकात में डीएमके नेता ने उन्हें यूपीए को समर्थन देने का प्रस्ताव दिया है.

उधर NDA के सहयोगी दल JDU ने एक बार फिर से बिहार को विशेष राज्य का दर्जा देने की मांग को दोहराया है. जेडीयू ने नतीजों से पहले ही बिहार के लिए विशेष राज्य के दर्जे की मांग की है. जेडीयू नेता केसी त्यागी ने बयान जारी करके न सिर्फ बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग की, बल्कि ओडिशा और आंध्र प्रदेश को भी विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने का समर्थन किया है.

सपा अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक बार फिर से मायावती को प्रधानमंत्री बनाने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं. इसके अलावा पीएम मोदी इन दिनों ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक की जमकर तारीफ कर रहे हैं. हाल ही में पटनायक ने भी उनकी जमकर तारीफ की थी.