बच्चों के वार्ड में TIK-TOK वीडियो बना रहीं थी ये नर्सें, मिला नोटिस

टिक टॉक में वीडियो बनाने का क्रेज इस कदर सिर चढ़कर बोल रहा है कि कुछ लोग तो इसके चक्कर में सब कुछ भूल जाते हैं. ऐसा ही एक असंवेदनशील मामला सामने आया है जहां एक अस्पताल की नर्सें मरीज का इलाज छोड़कर मस्ती में मगन हो गई.

दरअसल ये मामला ओडिशा के मलकानगिरि में जिला अस्पताल के SNCU वार्ड का है जहां की कुछ नर्सें अपनी ड्यूटी भूलकर टिक टॉक पर वीडियो बनाने में व्यस्त दिखीं. SNCU वार्ड में नवजात बीमार बच्चों को विशेष देखरेख में रखा जाता है. ऐसी संवेदनशील जगह पर मस्ती और लापरवाही करने से अब उनकी नौकरी पर बन आई है. मुख्य जिला चिकित्सा अधिकारी ने नर्सों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिया है. इसके अलावा अस्पताल के प्रभारी को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का भी निर्देश दिया गया है.

ड्यूटी के समय बच्चों का इलाज करने की बजाए नर्सें उनका तमाशा बना रही हैं. वार्ड में डांस कर रही हैं और अपनी ही मौज मस्ती में लगी हैं. इनकी इस घोर लापरवाही से किसी मासूम की जान पर बन सकती थी.

क्या है ‘टिक-टॉक’?

वैसे तो ‘टिक-टॉक’ के बारे में सभी लोग जानते हैं और काफी लोग तो इसे इस्तेमाल भी करते हैं. ये एक सोशल मीडिया ऐप्लिकेशन है जिसके जरिए स्मार्टफ़ोन यूज़र छोटे-छोटे वीडियो (15 सेकेंड तक के) बनाकर शेयर करते हैं.

सितंबर 2016 को चीन में ‘टिक-टॉक’ लॉन्च किया गया था. साल 2018 में इसकी लोकप्रियता काफी तेज़ी से बढ़ गई और अक्टूबर 2018 में ये अमरीका में सबसे ज़्यादा डाउनलोड किया जाने वाला ऐप बन गया. वहीं भारत में टिक-टॉक के डाउनलोड का आंकड़ा 100 मिलियन के ज़्यादा है.

1 thought on “बच्चों के वार्ड में TIK-TOK वीडियो बना रहीं थी ये नर्सें, मिला नोटिस”

Leave a Comment

%d bloggers like this: