परमाणु वैज्ञानिक डॉ बसु का कोरोना से निधन, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जताया दुख

Scientist Dr. Sekhar Basu
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोरोना वायरस ना जाने कितने नगीने हमसे छीन लेगा. केंद्रीय राज्यमंत्री सुरेश अंगड़ी के बाद परमाणु वैज्ञानिक पद्मश्री डॉ शेखर बसु का भी कोरोना की वजह से निधन हो गया.

डॉ शेखर बसु के निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दुख जताया है. 68 साल के वैज्ञानिक डॉ बसु भी कोरोना की चपेट में आ गए थे. जिसके चलते उनका आज (गुरुवार को) कोलकाता में कोरोना से निधन हो गया.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने ट्वीट संदेश में कहा कि वयोवृद्ध वैज्ञानिक पद्मश्री डॉ शेखर बसु का निधन राष्ट्र के लिए बहुत बड़ी क्षति है. उन्होंने परमाणु ऊर्जा से संचालित पहली पनडुब्बी INS अरिहंत के निर्माण में काफी अहम योगदान दिया था. दुख की इस घंड़ी में मेरी संवेदना उनके परिवार और दोस्तों के साथ है.’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि मैं परमाणु ऊर्जा वैज्ञानिक डॉ शेखर बसु के निधन से दुखी हूं, वह एक प्रसिद्ध परमाणु वैज्ञानिक थे. उन्होंने भारत को परमाणु विज्ञान और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अग्रणी देश के रूप में स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. हमारे विचार और प्रार्थना उनके परिवार और दोस्तों के साथ हैं.

बता दें कि मैकेनिकल इंजीनियर डॉ बसु को 2014 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था.

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील