NRC पर कांग्रेस पर शाह का पलटवार, कहा- क्या चचेरे भाई लगते हैं घुसपैठिए

NRC विवाद पर गृहमंत्री अमित शाह ने झारखंड की रैली में कांग्रेस पर पलटवार किया है. शाह ने कहा कि राहुल बाबा कहते हैं कि एनआरसी क्यों ला रहे हो ? घुसपैठियों को क्यों निकाल रहे हो? कहां जाएंगे, क्या खाएंगे?

शाह ने राहुल पर वार करते हुए कहा कि क्यों ये लोग आपके चचेरे भाई लगते हैं क्या? उन्होंने कहा कि 2024 से पहले देश से एक-एक घुसपैठियों को चुन-चुन कर निकालने का काम बीजेपी सरकार करने वाली है.

शाह ने कहा कि 2024 में जब मैं आपसे वोट मांगने आऊंगा तो उससे पहले पूरे देश में NRC लागू कर घुसपैठियों को चुन-चुनकर निकालने का काम भारतीय जनता पार्टी करेगी. उन्होंने कहा कि पहले सीमा पार से अमालिया-जमालिया आते थे और हमला करते थे. अब सेना सबको ठिकाने लगाती है.

शाह ने कहा कि आज घुसपैठियों के समर्थन में कांग्रेस खड़ी है लेकिन 2024 के चुनाव से पहले पूरे देश में एनआरसी लगाकर बीजेपी घुसपैठियों को निकालने का काम करेगी. उन्होंने कहा कि पांच साल के अंदर नरेंद्र मोदी की सरकार और रघुवर सरकार ने झारखंड के अंदर से नक्सलवाद को उखाड़ फेंका है.

विपक्ष पर वार

शाह ने झारखंड रैली में विपक्ष को जमकर कोसा. उन्होंने कहा कि विपक्ष का उद्देश्य सिर्फ सत्ता प्राप्त करना है जबकि बीजेपी का उद्देश्य झारखंड को विकास के रास्ते पर ले जाना है.

शाह ने कहा कि झारखंड की जनता ने कई पार्टियों की सरकारें देखी हैं लेकिन यहां की जनता ने विकास नहीं देखा क्योंकि कोई भी सरकार पूर्ण बहुमत की सरकार नहीं थी. 2014 में पू्र्ण बहुमत के बाद रघुवर दास मुख्यमंत्री बने और झारखंड विकास के रास्ते पर आगे बढ़ गया.

उन्होंने कहा कि बीजेपी सिर्फ विकास का काम करती है. हमारा एक लक्ष्‍य है, भ्रष्‍टाचार मुक्‍त शासन. मोदीजी सुशासन के लिए अब देश-दुनिया में जाने जाते हैं. हमने पांच साल में आदिवासी समाज के घरों तक विकास पहुंचाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि इतने सालों तक भगवान बिरसा मुंडा का स्मारक बनाने की किसी को नहीं सूझी.

शाह ने कहा कि बीजेपी की सरकार ने भगवान बिरसा मुंडा को सच्ची श्रद्धांजलि देने का काम किया है. बीजेपी सरकार ने उनकी जन्मस्थली और उनकी कर्मस्थली पर उनके सम्मान में स्मारक बनाया है. मोदी सरकार ने देवघर में एम्स बनाया. देवघर, बोकारो, दुमका और जमशेदपुर में एयरपोर्ट बनाया.

रांची में कैंसर अस्पताल बनाया, हजारीबाग, पलामू और दुमका में मेडिकल कॉलेज बनाया और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में 20 लाख किसानों को लाभ पहुंचाने का काम किया. शाह ने कहा कि सात दिसंबर को जब आप वोट देंगे तो ये मत सोचना कि किसी विधायक, मंत्री या मुख्यमंत्री के लिए वोट देना है, बल्कि आप विकास को वोट करें. 

शाह ने कहा कि आपका वोट झारखंड को विकास के रास्ते पर ले जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रघुवर दास की डबल इंजन की सरकार ही झारखंड का विकास कर सकती है.

राम मंदिर में कांग्रेस लगा रही थी रोड़ा

अमित शाह ने पाकिस्‍तान की चर्चा करते हुए सर्जिकल स्‍ट्राइक और एयर स्‍ट्राइक को मोदी सरकार का साहसिक कदम बताया. शाह ने कहा कि कांग्रेस ने मंदिर निर्माण की राह में रोड़ा अटका रखा था. कांग्रेस के नेता सुप्रीम कोर्ट में जाकर कहते थे कि रामजन्म भूमि का केस चलाने की जरूरत नहीं है.

उन्होंने कहा कि हमने आग्रह किया कि केस चलना चाहिए. जिसका परिणाम ये आया है कि सुप्रीम कोर्ट ने जजमेंट दिया कि अयोध्या में ही राममंदिर बनेगा. अब वहां रामलला का भव्य मंदिर बनेगा.

राहुल गांधी को चैलेंज

अमित शाह ने कहा कि आज राहुल गांधी यहां पर हैं. उनको चैलेंज देने आया हूं कि राहुल बाबा आपके 55 साल का शासन और हमारे पांच साल का शासन का हिसाब लेकर जब मर्जी हो मैदान में आ जाएं. हम पांच साल का हिसाब देंगे.

उन्होंने कहा कि टिकट वितरण में खरीद-फरोख्त करने वाली, आदिवासियों का शोषण करने वाली, झारखंड की रचना का विरोध करने वाली, अरबों-खरबों का भ्रष्टाचार करने वाली पार्टियों को वोट देने पर झारखंड का विकास नहीं होगा. विकास का काम केवल और केवल मोदी जी के नेतृत्व में बीजेपी ही कर सकती है.

शाह ने कहा कि हमने पांच साल के अंदर एक प्रकार से विकास की गंगा को आदिवासी, पिछड़े समाज के घरों में पहुंचाने का काम किया है. बीजेपी की सरकार आदिवासियों के जबरन धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए कानून लेकर आई.

शाह ने खेला ओबीसी कार्ड

बीजेपी अध्यक्ष ने झारखंड विधानसभा चुनाव में फिर एकबार ओबीसी कार्ड खेला. उन्होंने कहा कि बीजेपी का दूसरा नाम विकास है. पांच साल में रघुवर सरकार पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा है.

उन्होंने कहा कि ओबीसी समाज के लिए हमने तय किया है कि जैसे ही बीजेपी की सरकार बनती है, वैसे ही आदिवासियों, दलितों को आरक्षण कम किए बिना ओबीसी समाज के आरक्षण को बढ़ाने के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी.

कांग्रेस की गोद में बैठे हैं हेमंत सोरेन

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा के हेमंत सोरेन से मैं पूछना चाहता हूं कि जब गुरुजी और बीजेपी अलग झारखंड बनाने के लिए आंदोलन चला रही थी तो उस समय आंदोलनकारियों और युवाओं पर गोलियां और डंडे बरसाये जाते थे. उस समय कांग्रेस पार्टी की सरकार थी और आज सत्ता की लालच में हेमंत सोरेन उसी कांग्रेस की गोद में बैठकर मुख्यमंत्री बनने निकले हैं. 

उन्होंने कहा कि सोरेन का उद्देश्य सत्ता प्राप्त करना है. वो विकास नहीं कर सकते लेकिन हमारा उद्देश्य झारखंड को विकास के रास्ते पर ले जाने का है. ये बीजेपी ही कर सकती है. झारखंड को विकास के रास्ते पर ले जाने का काम केवल और केवल प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ही हो सकता है. पिछले पांच सालों में रघुवर की सरकार बेदाग रही. भ्रष्टाचार मुक्त सरकार दिया.

हिन्दुस्थान समाचार/राजीव

Leave a Reply