22 नवम्बर से दिल्ली में होगा उत्तर भारतीय हिन्दू अधिवेशन, हिन्दू राष्ट्र बनाने की उठेगी मांग

बीकानेर, 6 नवम्बर

भारतवर्ष को हिन्दू राष्ट्र बनाने की अवधारणा को साकार करने के लिए हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से दिल्ली में 22 से 24 नवंबर तक उत्तर भारत हिन्दू राष्ट्र अधिवेशन का आयोजन किया जाएगा जिसमे भारत के दस राज्यों में कार्यरत छोटे-बड़े 100 से अधिक हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के 250 से अधिक प्रतिनिधि उपस्थित होंगे.

समिति के समन्वयक सुरेश मुंजाल ने बुधवार को यहां बताया कि जिस प्रकार हम सभी अपने परिवार के पालन-पोषण के लिए पूर्ण निष्ठा एवं समर्पित भाव से कार्य करते हैं उसी प्रकार अपने धर्म की रक्षा, उसके संवर्धन के लिए भी वैसा ही समर्पण भाव जागृत करने की आवश्यकता है.

हममें आसक्ति हो या विरक्ति, जो भी हो, चरम सीमा तक होनी चाहिए, तभी लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि भारतवर्ष को हिन्दू राष्ट्र बनाने की अवधारणा को साकार करने के लिए हर उस व्यक्ति को जो सनातन धर्म में विश्‍वास रखता है, जो ऊं को अपनाता है और जो अपने-अपने इष्ट देव की आराधना करने में आस्था रखता है, उसे पूर्ण समर्पण भाव से इस धर्म रक्षति आंदोलन में तथा सनातन धर्म के वैभव को पुन: स्थापित करने के लिए सहयोग करना चाहिए.

इसी दृष्टि से इस अधिवेशन के अंतर्गत सभी कार्यक्रमों को मिलाकर भारत के दस राज्यों में कार्यरत छोटे-बड़े 100 से अधिक हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के 250 से अधिक प्रतिनिधि इस वर्ष के अधिवेशन में उपस्थित होंगे.

मुंजाल ने दावा किया कि नि:संदेह इस अधिवेशन से प्रेरणा लेकर हिन्दुत्वनिष्ठ वर्ष 2023 में स्थापित होने वाले हिन्दू राष्ट्र की दिशा में संगठित होकर योजनाबद्ध आश्‍वासक कदम उठाएंगे.

-हिन्दुस्थान समाचार/राजीव

Leave a Comment