केरल में निपाह ने पसारे पांव, इतने लोगों में दहशत
  • बीमारी की पुष्टि 23 साल के एक कॉलेज के छात्र में संक्रमण मिलने के बाद हुई है
  • अलग अलग जिलों में कुल 311 लोगों के साथ ये छात्र संपर्क में आया है. इन सभी लोगों को भी निगरानी में रखा गया है

केरल के दो जिलों में निपाह वायरस ने अपने पैर पसार लिए हैं. इस वायरस की वजह से अबतक 17 लोगों की जान जा चुकी है.

एक साल बाद दोबारा इस बीमारी ने अपने पैर फैलाए हैं. इस बीमारी की पुष्टि 23 साल के एक कॉलेज के छात्र में संक्रमण मिलने के बाद हुई है. वहीं सरकार ने भी जानकारी दी है कि अबतक
अलग अलग जिलों में कुल 311 लोगों के साथ ये छात्र संपर्क में आया है. इन सभी लोगों को भी निगरानी में रखा गया है .

इस मामले पर केरल की स्वास्थ्य मंत्री शैलजा ने कहा कि पुणे स्थित राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) में स्टूडेंट के ब्लड का सैंपल लिया गया है. इसकी जांच की गई जिसमें निपाह के संक्रमण की पुष्टि हुई है.

निपाह वायरस की देश में दस्तक, जानें क्या हैं लक्षण और बचाव

उन्होंने बताया कि इससे पहले दो वायरस विज्ञान संस्थानों- मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी और केरल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी एंड इंफेक्शियस डिजीज़ेज – में भी ब्लड सैंपल की जांच की गई थी, जिसमें निपाह के संकेत मिले थे.

इस मामले पर सरकार ने भी अपना बयान जारी किया है. सरकार का कहना है कि शुरुआत में तीन-चार लोगों ने इस छात्र की देखभाल की थी. इन लोगों को भी पूरी जांच की जा रही है.

इन लोगों को इलाज के लिए बनाए गए अलग वॉर्ड में रखा गया है. डॉक्टरों का कहना है कि अभी संक्रमित छात्र की हालत संतोषजनक है.

घबराएं नहीं – सरकार

सरकार ने अपना बयान जारी करते हुए कहा कि इस बीमारी से घबराएं नहीं. जितने भी लोग इस छात्र के संपर्क में आए थे उनकी सूची तैयार कर ली गई है. उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है.

सरकार ने कहा है कि इस बीमारी से घबराने की जरूरत नहीं है. इस बीमारी को फैलने से रोकने के लिए एहतियाती कदम भी उठाए जा रहे हैं.

इस मामले पर मंत्री शैलजा ने कहा कि हमें विश्वास है कि हम इसका सामना करेंगे. हमने पिछले साल भी कोझीकोड में इसका सामना करते हुए इस पर काबू पाया था.

Trending Tags- Kerala News | Nipah Virus | NIV | Virus | Latest News

1 thought on “केरल में निपाह ने पसारे पांव, इतने लोगों में दहशत”

Leave a Comment

%d bloggers like this: