#WORLD CUP 2019: नई फिल्डिंग की कर रहे तैयारी, सटीक थ्रो से जीतेगी भारतीय टीम
  • भीरतीय टीम किसी तरह की कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी वजह से भारतीय टीम के कोच श्रीधर टीम के क्षेत्ररक्षण को मजबूत करना चाहते हैं
  • साउथम्‍पटन में अभ्‍यास सत्र के दौरान भारतीय खिलाड़ियों ने फील्डिंग कोच आर श्रीधर के साथ मिलकर नई तकनीक पर काम किया

विश्व कप 2019 का आगाज हो चुका है. सभी टीमें विश्व कप की ट्रोफी को अपने नाम करने के लिए पूर जोर कोशिश में लगी हुइ हैं. 5 जून को भारत का पहला मैच दक्षिण आफ्रीका से होगा. साउथेम्प्टन में विराट कोहली के जांबाज फाफ डुप्लेसिस के धुरंधरों से भिड़ेंगे.

इस मैच में भीरतीय टीम किसी तरह की कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. इसी वजह से भारतीय टीम के कोच श्रीधर टीम के क्षेत्ररक्षण को मजबूत करना चाहते हैं. जिसको लेकर श्रीधर टीम को एक खास खास तरिके से फिल्डिंग को मजबूत करना सिखा रहे हैं.

गुरुवार को साउथम्‍पटन में अभ्‍यास सत्र के दौरान भारतीय खिलाड़ियों ने फील्डिंग कोच आर श्रीधर के साथ मिलकर नई तकनीक पर काम किया. भारतीय टीम की कैचिंग अच्छी मानी जाती है लेकिन क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर आगामी विश्व कप में सीधे थ्रो की सटीकता में सुधार चाहते हैं.

आपको बता दे भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा को छोड़कर किसी भी खिलाड़ी का विकेट पर निशाना अच्छा नहीं है. हालांकि श्रीधर ने अब राउंड द क्लॉक क्षेत्ररक्षण ड्रिल तैयार की है जिसमें क्षेत्ररक्षक छह विभिन्न पोजीशन से नान स्ट्राइकर छोर पर विकेट पर गेंद मारता है.

श्रीधर ने नेट प्रैक्टिस के बाद बीसीसीआई.टीवी से कहा, ‘हमने आज दिलचस्प क्षेत्ररक्षण सत्र में भाग लिया. इस सत्र का उद्देश्य सीधे हिट करना था. हमारा ध्यान इस पर था कि खिलाड़ी विभिन्न कोणों से नॉन स्ट्राइकर छोर पर सटीक निशाना लगाएं. शुरू में हमने एक ड्रिल ‘राउंड द क्लॉक’ से शुरूआत की जिसमें खिलाड़ियों को छह अलग-अलग पोजीशन से 20 बार स्टंप को हिट करना था.

अभ्यास सत्र में कप्तान विराट कोहली ऑफ स्पिन गेंदबाजी में अपना हाथ आजमाते नजर आए. ये अब्यास सत्र का दूसरा महत्वपूर्ण पहलू था लेकिन बल्लेबाजों को उनका सामना करने में कोई परेशानी नहीं हुई. क्रिकेट वर्ल्ड कप में फील्डिंग एक बड़ी भूमिका निभाएगी.

Trending Tags- World Cup 2019 | BCCI | ICC | Virat Kohli | Indian Cricket Team

Leave a Comment

%d bloggers like this: