नई शिक्षा नीति से हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं का समानांतर विकास होगा: अमित शाह

Amit Shah
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 14 सितम्बर (हि.स.). केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने सोमवार को कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति से हिंदी और अन्य भारतीय भाषाओं का समानांतर विकास होगा.

हिंदी दिवस के अवसर पर एक ट्वीट में उन्होंने कहा कि एक देश की पहचान उसकी सीमा व भूगोल से होती है लेकिन उसकी सबसे बड़ी पहचान उसकी भाषा है. भारत की विभिन्न भाषाएं और बोलियां उसकी शक्ति भी है और उसकी एकता का प्रतीक भी है. गृह मंत्री ने कहा कि हिंदी सदियों से पूरे भारत को एकता के सूत्र में पिरोने का काम करती रही है.

उन्होंने कहा कि हिंदी भारतीय संस्कृति का अटूट अंग है. यह स्वतंत्रता संग्राम के समय से यह राष्ट्रीय एकता और अस्मिता का प्रभावी व शक्तिशाली माध्यम रही है. हिंदी की सबसे बड़ी शक्ति इसकी वैज्ञानिकता, मौलिकता और सरलता है.

हिन्दी दिवस पर हिन्दी में ट्वीट कर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि हिन्दी दिवस पर सभी को अशेष शुभकामनाएं. हिंदी भाषा की समृद्धि, संरक्षण तथा संवर्द्धन के लिए कार्यरत उन सभी हिंदी भाषाविदों एवं प्रेमियों को असंख्य धन्यवाद.हिन्दुस्थान समाचार/अनूप