J&K: शाह ने किया कश्मीर में नए डोमिसाइल नियम का ऐलान, 15 साल रहने वाला माना जाएगा निवासी

जम्मू-कश्मीर से स्पेशल स्टेटस का दर्जा वापस लिए जाने के बाद गृहमंत्री अमित शाह ने आज जम्मू-कश्मीर के लिए नया डोमिसाइल नियम जारी किया है. नए नियम के अनुसार केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 15 सालों से रह रहे लोगों को ही नागरिकता मिलेगी.

इसके तहत जिन बच्चों ने सात वर्ष तक केंद्र शासित प्रदेश के स्कूलों में पढ़ाई की है और दसवीं या बारहवीं कक्षा की परीक्षा दी है, वे भी जम्मू-कश्मीर के डोमिसाइल होंगे. उन्हें सरकारी नौकरियां भी मिल पाएंगी.

सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक़, जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन आदेश 2020 में सेक्शन 3ए जोड़ा गया है. इसके तहत राज्य/यूटी के निवासी होने की परिभाषा तय की गई है. जिस भी शख्स ने जम्मू-कश्मीर में 15 साल बिताए हैं या जिसने यहां 7 साल पढ़ाई की और 10वीं-12वीं की परीक्षा यहीं के किसी स्थानीय संस्थान से दी, वह यहां का निवासी होगा.

गृहमंत्री ने राज्य से स्पेशल स्टेटस का दर्जा वापस लेते वक्त विश्वास दिलाया था कि राज्य के लोगों को किसी भी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा था. उन्होंने विश्वास दिलाया था कि के लिए नया कानून किसी भी अन्य राज्य की तुलना में बेहतर होगा.

ये अधिकारी होंगे शामिल

नए डोमिसाइल के तहत राज्य के निवासियों में केंद्रीय सरकारी अधिकारी, सभी सर्विसेज के अधिकारी, पीएसयू और स्वायत्त संस्थाओं के अधिकारी, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक, वैधानिक निकायों के अधिकारी भी शामिल होंगे.

Leave a Reply

%d bloggers like this: