नस्लवाद से निपटने के लिए कानून में बदलाव जरूरी, घुटने टेकना दिखावटी: ब्रेथवेट

लंदन, 03 जुलाई (हि. स.). वेस्टइंडीज के स्टार ऑलराउंडर कार्लोस ब्रेथवेट ने कहा कि खेल में नस्लवाद से निपटने के लिए कानून में बदलाव होना चाहिए और घुटने टेक कर इसका विरोध करना सिर्फ “दिखावटी” है. 

अमेरिका में पुलिस कस्टडी में एक अश्वेत व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या के बाद पूरी दुनिया में नस्लवाद का विरोध करने के लिए “ब्लैक लाइव्स मैटर” नामक एक आंदोलन चलाया जा रहा है, जिसके बाद खेल जगत ने भी इसका साथ दिया. 

ब्रेथवेट ने एक समाचार ब्रॉडकास्टर को बताया, “घुटने टेकना या बैज पहनना प्रयाप्त नहीं है, मानसिकता में बदलाव करना जरूरी है. मेरे लिए यह सब दिखावटी है, इससे बस कुछ पंखों को हिलाया जा सकता है.”

उन्होंने कहा, “कानूनी तौर पर एक बड़ा बदलाव करने की जरूरत है और हमें पूरी समाज की मानसिकता बदलने की जरूरत है.”

इंग्लैंड बुधवार को साउथम्पटन में शुरू होने वाली तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के दौरान अपनी शर्ट पर “ब्लैक लाइव्स मैटर” लोगो पहनने में वेस्टइंडीज का साथ देने वाला है. 

इससे पहले, वेस्टइंडीज के कप्तान जेसन होल्डर ने क्रिकेट में डोपिंग और मैच फिक्सिंग के रूप में नस्लवाद को गंभीरता से लेने की मांग की थी.

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी और क्रिस गेल ने बताया कि वे भी खेल के दौरान नस्लवाद का शिकार बन चुके हैं, जिसके बाद उन्होंने भी खेल में नस्लवाद को खतम करने पर जोर डाला है. 

हिन्दुस्थान समाचार/दीपेश शर्मा

Leave a Reply

%d bloggers like this: