महाराष्ट्र में चुनाव नतीजे से पहले ही विपक्षी खेमें में तनातनी, NCP ने कांग्रेस नेतृत्व पर उठाए सवाल

महाराष्ट्र में चुनाव के नतीजे अभी सामने आए भी नहीं कि कांग्रेस और एनसीपी में तनातनी शुरू हो गई है. एग्जिट पोल के नतीजों को सही मानते हुए दोनों पार्टियां ने एक दूसरे के सिर पर हार का ठीकरा फोड़ने शुरू कर दिया है.

एनसीपी नेता और राज्यसभा सांसद मजीद मेनन ने अनुसार यदि चुनाव में हार होती है, तो उसके लिए कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार होगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी प्रचार से दूर रहीं. राहुल गांधी आए तो उसकी पार्टी के ही नेता उनकी जनसभाओं से दूर रहे.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने चुनाव में कोई दिलचस्पी नहीं ली, केवल शरद पवार ने ही चुनाव प्रचार के दौरान कड़ी मेहनत की. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन एनसीपी के लिए एक मजबूरी थी क्योंकि पार्टी अकेले चुनाव लड़ने की स्थिति में नहीं थी.

विपक्ष के पास ना नेता दिखा ना नीति

महाराष्ट्र चुनाव के दौरान विपक्ष के पास खासतौर पर कांग्रेस के पास नेतृत्वकर्ता की कमी दिखी. मौजूदा समय में मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस, नेता और नीति विहीन पार्टी सी दिख रही है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी चुनाव प्रचार से दूर रहीं. वहीं राहुल गांधी चुनाव प्रचार में पहुंचे.

कांग्रेस के स्टार प्रचारकों में सिर्फ राहुल गांधी ही नजर आए, जबकि बीजेपी की ओर से पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ जैसे दिग्गज मैदान में थे. हालांकि आखिरी वक्त में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने रस्म अदायगी करते हुए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस जरूर की.

बागियों ने बिगाड़ा खेल

महाराष्ट्र में चुनाव से ऐन वक्त पहले कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी बदल दिए गए. संजय निरुपम की जगह मिलिंद देवड़ा भी इस पद से हट गए और बालासाहेब थोराट को नया अध्यक्ष चुना गया. संजय निरुपम और मिलिंद देवड़ा पार्टी हाईकमान पर ही सवाल उठाते रहे और चुनाव प्रचार में भी नहीं उतरे. 

एग्जिट पोल के अनुसार फडणवीस फिर बनेंगे सीएम

एग्जिट पोल के अनुसार राज्य में बीजेपी और शिवसेना गठबंधन फिर से जोरदार तरीके से वापसी कर रही है. वहीं कांग्र्रेस और एनसीपी गठबंधन को जनता ने पूरी तरह से नकार दिया है.

एग्जिट पोल के अनुसार एक बार फिर से देवेंद्र फडणवीस राज्य के सीएम बनेंगे. हालांकि फाइनल रिजल्ट 24 अक्टूबर को घोषित किए जाएंगे. वहीं एग्जिट पोल के मुताबिक महाराष्ट्र में बीजेपी अपने दम पर बहुमत का जादुई आंकड़ा पार करते हुए दिख रही है.

एग्जिट पोल के मुताबिक 288 सीटों में से बीजेपी-शिवसेना गठबंधन 135 से 142 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है, जबकि कांग्रेस और एनसीपी गठबंधन को 81 से 88 सीटें मिल सकती हैं.

Leave a Comment