नरेंद्र गिरि ने कुंभ मेला प्रशासन पर लगाया उदासीनता का आरोप, दी चेतावनी

हरिद्वार, 24 जनवरी (हि.स.)। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीमहंत नरेंद्र गिरि ने कुंभ मेला प्रशासन पर उदासीनता बरतने का आरोप लगाया। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि 8 फरवरी को श्री पंचायती अखाड़ा निर्मल में होने वाली अखाड़ा परिषद की बैठक में कठोर निर्णय किए जाएंगे।

नरेंद्र गिरि ने कहा कि सभी अखाड़ों के रमता पंच हरिद्वार कुंभ के लिए रवाना हो चुके हैं। अक्टूबर से अखाड़ों के शिविर हरिद्वार में लगने शुरू हो जाएंगे लेकिन विकास कार्यों के नाम पर कुंभ नगरी में धरातल पर कुछ नजर नहीं आ रहा है।

नरेंद्र गिरि ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा कि अखाड़ों में होने वाले स्थाई निर्माण अभी तक भी शुरू नहीं हुए हैं, जबकि अधिकांश श्रद्धालु अखाड़ों में ही पहुंचते हैं।

मुख्यमंत्री ने अखाड़ा परिषद पदाधिकारियों के साथ हुई बैठक में अखाड़ों में स्थाई निर्माण शुरू कराने का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक एक ईंट तक नहीं रखी गयी है।

आश्वासनों के सहारे संतों को बहकाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हालात का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाईवे निर्माण अभी तक आधा अधूरा ही है।

इतना ही नहीं कुंभ में अखाड़ों को शिविर लगाने के लिए भूमि आवंटन का काम भी शुरू नहीं हुआ है। कुंभ मेला क्षेत्र विस्तार का कार्य भी अधर में लटका हुआ है। 


हिन्दुस्थान समाचार/रजनीकांत

Leave a Reply

%d bloggers like this: