भारत में कोविड-19 से मिलती-जुलती बीमारी ने दी दस्तक, बच्चे बन रहे हैं शिकार, गुजरात में मिला पहला केस

rr
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. जहां पर एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस जैसी महामारी से जूझ रहा है वहीं पर दूसरी तरफ एक और बीमारी ने भारत में दस्तक दे दी है. इस बीमारी की शुरुआत होने के बाद भारत में डर का माहौल बन गया है. इस बीमारी का पहला केस गुजरात के सूरत में देखने को मिला है. इसका नाम है मल्टी सिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम (Multisystem Inflammatory Syndrome). इसे MIS-C भी कहते हैं.

भारत में इस बीमारी का पहला मामला
MIS-C के केस यूरोप और अमेरिका से आ रहे थे. लेकिन अब इस बीमारी का पहला मामला गुजरात के सूरत से आया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 10 साल के बच्चे में इस बीमारी के लक्षण देखे गए. परिवारवालों के मुताबिक बच्चे को पहले उल्टी, खांसी और फिर दस्त हुई. इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया. बाद में बच्चे की आंखे और होंठ पर लाली पड़ने लगी. जिसके बाद उसे डॉक्टर के यहां ले जाया गया.

डॉक्टर के अनुसार बच्चे के शरीर में मल्टी सिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम के लक्षण दिखे. बच्चे की हार्ट में बल्ड भी 30% ही पंप हो रहा था. इसके साथ ही साथ नसों में भी सूजन आ गई थी. हालांकि इन सब के बीच राहत की बात ये है कि बच्चे को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है.

इस बीमारी को लेकर चल रही है रिसर्च- मल्टी सिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम के बार में दुनियाभर के डॉक्टरों को ज्यादा पता नहीं है. इसको लेकर फिलहाल रिसर्च चल रहे हैं. इस साल मई के महीने में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने लोगों को आगाह किया था.

इस नई बीमारी के बारे में डॉक्टरों का कहना है कि ये बिलकुल कोरोना जैसी है. इसे भी जांच में पकड़ना मुश्किल होता है. बच्चों को ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है. इस बीमारी की चपेट में बच्चे जल्दी आ सकते हैं.
इस बीमारी से बचने का एक ही उपाय है इसके लक्षणों को ध्यान में रखें जैसे कि बच्चे को बुखार, उल्टी, दस्त, आंखे लाल होना, अगर ऐसे लक्षण दिखें तो फौरन बच्चे को डॉक्टर के पास ले जाए और इलाज कराएं.