नारियल किसानों को फायदा, केंद्र सरकार ने 2700 प्रति क्विंटल किया पके छिले नारियल का समर्थन मूल्य

Coconut Farming
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

केंद्र सरकार ने पके छिले नारियल के लिए 2020 सीजन का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) प्रति क्विंटल 2 हजार 700 रुपये घोषित किया है. इस प्रकार 2019 सीजन के प्रति क्विंटल 2 हजार 571 रुपये के मुकाबले 5.02 प्रतिशत की बढ़ोतरी MSP में की गई है.

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मंगलवार को कहा है कि मोदी सरकार ने देश भर में हर स्तर पर सभी तरह की उपज के किसानों व संबंधित वर्गों के हितों को सर्वोपरि रखा है. पके छिले नारियल के न्यूनतम समर्थन मूल्‍य में वृद्धि से ताजा नारियल की खरीद सुगम होगी.

साथ ही लाखों छोटे नारियल किसानों को बढ़ी हुई एमएसपी का लाभ मिलेगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि छोटे नारियल किसानों की फसल होने के नाते किसानों के स्तर पर एकत्रीकरण और खोपरा बनाने के लिए व्यवस्था करना आम बात नहीं है. पेषण खोपरा का न्यूनतम समर्थन मूल्‍य 2020 फसल सीजन के लिए प्रति क्विंटल 9 हजार 960 रुपये है.

छिले नारियल के लिए उच्चतर न्यूनतम समर्थन मूल्‍य की घोषणा से ऐसे छोटे किसानों को तुरंत नकद मिलना सुनिश्चित हो जाता है जो उत्पाद को अपने पास रखने में असमर्थ होते हैं और जिनके पास खोपरा बनाने के लिए अपर्याप्त सुविधा होती है.

कोविड-19 महामारी के संकट के दौर में न्यूनतम समर्थन मूल्‍य में बढ़ोतरी नारियल किसानों को राहत पहुंचाएगी, जो महामारी और इसकी वजह से सप्‍लाई चेन में उत्‍पन्‍न व्‍यवधान से पहले ही काफी प्रभावित हो चुके हैं.  

हिन्दुस्थान समाचार/अजीत