यूपीः विधायक की कोशिश लाई रंग, किसानों ने ली राहत की सांस

MLA Suchishmita Maurya
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

मिर्जापुर, यूपी।

यूपी के मिर्जापुर के मझवां ब्लाक के बजहां गांव में दस वर्षों से नगर पंचायत कछवां के नाले के पानी में डूबे किसानों के सैकड़ों बीघे खेतों के लिए मझवां विधायक सुचिश्मिता मौर्या की कोशिश रंग लाती दिखी.

विधायक की पहल पर शुक्रवार को डीएम सुशील कुमार पटेल व सीडीओ अवीनाश सिंह ने बजहां गांव का दौरा कर नाले के गंदे पानी व जलकुम्भी लगे खेतों का निरीक्षण किया. साथ ही मौके पर जुटे किसानों से बातचीत कर डीएम ने जल्द ही नाला निर्माण कराने का आश्वासन दिया.

विधायक सुचिश्मिता मौर्या ने पानी में खेत डूबे से बदहाल किसानों के मामले को विधानसभा के पिछले सत्र में सदन में उठाया था. जिसके क्रम में जिले दोनों आला अधिकारियों ने बजहां गांव का दौरा कर मौका मुआयना किया. खतों के नाले के पानी डूबने से खते होते हुए भी कई किसान भूमिहीन बने हुए हैं.

इस सालों से जमीन बेकार पड़ी है. नगर पंचायत कछवां की ओर से नगर के घरों,नाले और नालियों के पानी निकासी के लिए नाला नगरीय सीमा तक बनाया है. बजहां गांव की सीमा पर नाला खत्म हो जाता है.

इसके बाद नाले का पानी किसानों के तबाही का सबब साबित हो रहा है. जिसे लेकर किसान डीएम से लेकर हर एक जन प्रतिनिधियों से गुहार लगाई. लेकिन कहीं से भी राहत नहीं मिली. ग्रामीणों ने जब इसकी शिकायत विधायक सुचिस्मिता मौर्या से की तो उन्होंने गंभीरता से लिया. और लगतार प्रयास के बाद सकारात्मक कदम सामने आया.

उपजेगा अन्न खुशहाल होंगे किसान

डीएम सुशील कुमार पटेल व सीडीओ के बजहां गांव का दौरा करने से नाले के पानी से प्रभावित किसानों में उम्मीद की किरण पैदा हो गई है. ग्रामीणों का कहना था नाला बनाकर नगर के पानी का रूख बदलने से 10 वर्षों से अन ऊर्वर बने खेत उपजाऊं बन जाएंगे. जिसमें गेहूं, धान से लेकर किसान सब्जी आदि पैदा कर खुशहाल बन सकेंगे.

हिन्दुस्थान समाचार/गिरजा शंकर