खनन माफियाओं ने पुलिस पर की फायरिंग

हमीरपुर
जिले में अवैध खनन कर रहे माफिया से शुक्रवार की देर रात पुलिस की मुठभेड़ हो गयी. माफिया ने पुलिस दल पर फायरिंग की लेकिन चौकस पुलिस वाले बाल-बाल बच गए.

उसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए एक अपराधी को गिरफ्तार कर लिया. उसके कब्जे से एक देसी बन्दूक और कारतूस बरामद किया गया है. अवैध मौरंग से ओवर लोड ट्रैक्टर ट्राली को कब्जे में लेकर पुलिस ने सीज कर दिया है. दो अपराधी मुठभेड़ के दौरान भाग निकले, जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें शनिवार को छापेमारी कर रही हैं.

जिले की राठ कोतवाली के इंस्पेक्टर मनोज कुमार शुक्ला ने शनिवार को यहां बताया कि मुखबिर की सूचना पर उपनिरीक्षक धनंजय सिंह, उप निरीक्षक प्रहलाद सिंह ने सिपाही विजेन्द्र कुमार, उमाशंकर शुक्ला, विजय व शुभम उपाध्याय के साथ विरमा नदी के किनारे छापेमारी की तो असलहों से लैस खनन माफिया ने पुलिस दल पर फायरिंग कर दी.

फायरिंग में सिपाही बाल-बाल बच गए. पुलिस की टीम ने जवाबी कार्रवाई करते हुए कैथा राठ निवासी मदन सिंह को गिरफ्तार कर लिया. हालांकि उसके दो साथी अपराधी मिट्टी के टीलों का फायदा उठाते हुए भाग गये है.

मौके से एक अपराधी के कब्जे से एक बारह बोर की देसी बन्दूक, कारतूस व नाल में फंसा खोखा कारतूस बरामद किया गया है. इंस्पेक्टर ने बताया कि गिरफ्तार अपराधी अपने साथी अरविन्द लोधी व प्रहलाद लोधी उर्फ दद्दू के साथ असलहों के दम पर ग्रामीणों को धमकाकर विरमा नदी में अवैध खनन कर रहे थे. मौके से मौरंग से भरी एक ट्रैक्टर ट्राली पकड़़ी गयी है, जिसे सीज कर दिया गया है.

इंस्पेक्टर ने बताया कि फरार अपराधी अरविन्द कुमार राजपूत के खिलाफ राठ व पनवाड़ी (महोबा) थाने में छह आपराधिक मुकदमे दर्ज है. वर्ष 2013 में इसने राठ क्षेत्र में हत्या की वारदात की थी. इसी तरह से फरार प्रहलाद उर्फ दद्दू राजपूत के खिलाफ भी हत्या समेत पांच मुकदमे दर्ज है. फरार दोनों अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें छापेमारी कर रही है.


हिन्दुस्थान समाचार/पंकज

Leave a Reply

%d bloggers like this: