प्रवासी मजदूरों पर Congress की डर्टी पॉलिटिक्स का हुआ पर्दाफाश, अब मीडिया को कोसने में लगे सिब्बल

प्रवासी मजदूरों को लेकर कांग्रेस की डर्टी पॉलिटिक्स का भांडा फूटने के बाद अब कांग्रेसी नेता मीडिया को कोसने में लग गए हैं. प्रवासी श्रमिकों को मदद पहुंचाने की होड़ के बीच सरकार और विपक्ष की खींचतान में अब मीडिया को भी एकपक्ष बनाया जा रहा है.

सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों की तरफ से मीडिया में झूठी खबरों को प्रसारित करने को लेकर आरोप लगाने का क्रम जारी है. इस बीच कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी मीडिया को पक्षपातपूर्ण बताते हुए ‘गोदी’ मीडिया की संज्ञा दी है.

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ ‘मीडिया’ की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया है. उन्होंने लिखा कि कुछ लोगों को भरोसा है कि ‘गोदी’ मीडिया ही ‘मोदी’ मीडिया है. जहां बोलने की स्वतंत्रता बहुत कम है लेकिन सरकारों के साथ राजनीतिक विषयों पर जुगलबंदी काफी है. ऐसी जगहों पर कुतर्क, झूठ और गाली को लपेटकर समाचार का रूप दिया जाता है.

बता दें कि कांग्रेस पार्टी द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार को एक हजार बस मुहैया कराने के मुद्दे पर एक पत्रकार ने बसों के विवरण को लेकर सवाल उठाया. उन्होंने कहा कि कई वाहनों के नंबर और चालक-परिचालक का विवरण गलत हैं.

उन्होंने ट्वीट कर लिखा था  कि प्रियंका गांधी की ओर से दिए गए बसों की लिस्ट में तीन पहिया और दोपहिया वाहनों के नंबर दर्ज हैं. जिसके बाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने भी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर उस पत्रकार पर पैसे लेकर खबर छापने का आरोप लगाते हुए FIR  दर्ज कराने की बात कही थी.

हिन्दुस्थान समाचार/आकाश

Leave a Reply

%d bloggers like this: