• गांव में बुलायी गयी पंचायत, आरोपी पर लगाया गया 45 हजार रुपया जुर्माना
  • सामाजिक कार्यकर्ता हेमलता पांडे ने दी पुलिस को सूचना

सुपौल के त्रिवेणीगंज में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है. इसमें एक अधेड़ रात के अंधेरे में नबालिग से दुष्कर्म करने का प्रयास कर रहा था कि बच्ची के चिल्लाने के बाद आसपास के लोग ने उसकी अस्मत बचाई.

त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के पथरा गोरधेय  निवासी एक महिला ने त्रिवेणीगंज थाने में आवेदन देकर बताया है कि उसकी नाबालिग बेटी अपनी दादी के साथ सोई हुई थी. इसी दौरान गांव का ही एक अधेड़ व्यक्ति  गलत नीयत से पहुंचा और उसकी नबालिग बेटी का कपड़ा फाड़ दिया.

उसकी पुत्री चिल्लाने लगी तो पास सोयी दादी और दादा दोनों जग गए. दोनों ने  देखा कि उसके पास एक अधेड़ व्यक्ति वहां बैठा है. इसके बाद शोर करने पर आस पड़ोस के लोग भी जग गये और वहां पहुंचे.

मामला को लेकर सुबह गांव के लोगों ने पंचायत बुलायी और आरोपी को  45 हज़ार रूपये अर्थदंड लगाया गया. इसी बीच किसी ने मामले की लीपापोती होते देख सामाजिक कार्यकर्ता हेमलता पांडेय को इस मामले की सूचना दी.

मौके पर पहुंची हेमलता पांडेय ने मामले को गंभीरता से लेते हुए इसकी सूचना त्रिवेणीगंज एसएचओ सुधाकर कुमार को दी. त्रिवेणीगंज पुलिस मामले में आरोपी अधेड़ को हिरासत में लेकर त्रिवेणीगंज थाना लाया, जहां नाबालिग की मां की लिखित शिकायत पर मामला दर्ज किया गया.

हिन्दुस्थान समाचार/ राजीव