मनरेगा के कार्यों में गुणवत्ता में गड़बड़ी का आरोप

कोरिया

जिले के खड़गवा विकासखण्ड में इन दिनों नए-नए कारनामे मनरेगा के तहत देखने को मिल रहे हैं। एक ओर जहां मनरेगा के कार्यों पर घटिया निर्माण का आरोप लग रहा है, वहीं मनरेगा में काम कर रहे तकनीकी सहायकों की योग्यता को लेकर भी सवाल खड़े हो गए हैं.

जिन तकनीकी सहायकों की नियुक्ति की गई है उसमें से कई तकनीकी सहायक को सिविल के कार्य करने की योगिता नहीं है. इसमें कई तकनीकी सहायक मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, एग्रीकल्चर से डिप्लोमा प्राप्त किया हुआ है. इनकी योग्यता को लेकर निर्माण कार्य की गुणवत्ता का अंदाजा लगाया जा सकता है.

जबकि विभाग द्वारा इन तकनीकी सहायकों को सिविल से किए जाने वाले कार्यो की कोई भी ट्रेनिंग नहीं दी गई है, जिससे किए जा रहे कार्यों की उचित जानकारी इन तकनीकी सहायकों को नहीं है. ऐसा ही एक मामला घटिया निर्माण को लेकर ग्राम पंचायत बारी में देखने को मिला. 


महात्मा गांधी रोजगार गारंटी के तहत बन रहे छुरी नाला के स्टॉप डेम पूरी तरह से घटिया किस्म के मेटेरियल से बनाई गई है. स्टॉप डेम को देखने से प्रतीत होता है कि इसमें उपयोग की जाने वाली मेटेरियल की मात्रा क्या होगी जो बनते के साथ ही उखड़ने लग गई है.

साथ ही साथ बांस की बल्ली सीमेंट की बोरी के भरोसे स्टॉप डेम की ढलाई की गई है. ढलाई के बाद स्टॉप डेम में लगने वाले सरिए भी दि‍खने लगे हैं. इस बात को लेकर गांव वालों में आक्रोश है. ग्रामीणों का कहना है कि इंजीनियर के सही मार्गदर्शन नहीं मिलने से स्टॉप डेम का यह हाल हुआ है. 

खड़गांव के सीईओ मोती राम केवट ने कहा क‍ि ऐसा हो ही नहीं सकता है, जिन तकनीकी सहायक की योग्‍यता नहीं है वह कैसे पक्का काम देख सकते हैं . अगर ऐसा है तो गलत है. सिर्फ सिविल के तकनीकी सहायक ही पक्के काम को देख सकते हैं. मैं स्‍वयं इस मामले की जांच करुंगा. 

वहीं मनरेगा   प्रोग्राम ऑफि‍सर (पीओ) प्रतीक जायसवाल ने बताया क‍ि  मेरे द्वारा इस विषय में विभाग के मुख्‍य कार्यपाल‍िका अ‍भ‍ियंता ज‍ितेन्‍द्र देवांगन से बात हुई थी जिनका कहना था कि विभाग के तकनीकी सहायकों द्वारा मूल्यांकन नहीं किया जा सकता है, मूल्यांकन की जिम्मेदारी सिर्फ उप अभियंता को है. ऐसा ही एक लेटर जिला पंचायत कोरिया के सीईओ द्वारा जारी किया गया है लेकिन उस लेटर की कॉपी अभी तक हमारे पास नहीं पहुंची है. लेटर के पहुंचने के बाद ही इस मामले में जांच की जाएगी.

हिन्दुस्थान समाचार / महेन्द्र

2 thoughts on “मनरेगा के कार्यों में गुणवत्ता में गड़बड़ी का आरोप”

Leave a Reply

%d bloggers like this: