मॉरिशस में तेल रिसाव से आपात स्थिति घोषित, सहयोग के लिए अपील

Mauritius
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
  • मॉरिशस में पर्यावरण संकट, जापानी जहाज़ से एक टन तेल का रिसाव

हिंद महासागर में भारत के हितैषी ‘मारिशस’ द्वीप में रविवार को एक जापानी तेलवाहक जहाज़ से तेल रिसने से भारी पर्यावरण संकट पैदा हो गया है. इससे मॉरिशस द्वीप के इर्द-गिर्द तेल फैलने से समुद्री जीवों की तबाही के क़यास लगाए जा रहे हैं. मॉरिशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जुगनौथ ने आपातस्थिति घोषित कर दी है और अंतरराष्ट्रीय सहयोग की अपील की है.

मॉरिशस की तेरह लाख आबादी है. जापानी तेलवाहक जहाज़ चार टन का है और उसमें से एक टन तेल का रिसाव हो चुका है. हिंद महासागर में उतंग लहरों और ख़राब मौसम के कारण जहाज़ से और अधिक तेल रिसने के क़यास लगाए जा रहे हैं. कहा जा रहा है कि तेलवाहक जहाज़ क्षतिग्रस्त हो गया है.

अमेरिकी मीडिया के अनुसार इस पर्यावरण संकट से निजात पाने के लिए हज़ारों छात्र, वन्यजीव प्रेमी और नाविक आदि घरों से निकलकर सागर में तेल के असर को कम करने के लिए निकल पड़े हैं. महासागर में तेल को बटौरने के लिए लोग अलग-अलग तरह के उपाय कर रहे हैं, तो कुछ लोग महासागर में कछुए को बचाने की जुगाड़ में लग गए हैं. कहा जा रहा है कि इस तेल परवाह को तत्काल नहीं रोका गया तो, मॉरिशस की पर्यटन इंडस्ट्री बर्बाद हो जाएगी.

हिन्दुस्थान समाचार