icc
icc

विश्व कप के 40 साल के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि जब एक हफ्ते के अंदर बारिश के कारण 3 मैचो को रद्द करना पड़ा हो. जबकी अभी तक सिर्फ 16 मैच ही हुए हैं. मैचो का रद्द होना क्रिकेट प्रेमियों के लिए काफी निराशा जनक रहा है.

मैचो को बारिश की भेंट चढ़ता देख कई लोगों ने रिजर्व डे कि मांग की है. लेकिन आईसीसी के मुख्य कार्यकारी डेविड रिचर्डसन ने इस पर कहा कि बारिश से प्रभावित वर्ल्ड कप के हर मैचों के लिए अलग से रिजर्व डे रखना संभव नहीं है.

रद्द हुए मैचो पर रिजर्व डे की मांग पर आईसीसी ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि क्रिकेट विश्व कप में हर मैच के लिए रिसर्व दिन रखना मुश्किल है क्योंकि इससे टूर्नामेंट काफी लंबा हो जाएगा और इसके आयोजन में भी मुश्किलें आएंगी. इसका सीधा असर पिच की तैयारी, टीम रिकवरी, यात्रा के दिनों, होटेल, वेन्यू, टूर्नामेंट स्टाफिंग, स्वयंसेवक, मैच अधिकारियों की उपलब्धता, मैच प्रसारण और सबसे ज्यादा उन दर्शकों पर होगा जो कई घंटों का सफर कर स्टेडियम तक पहुंचते हैं. और इस बात की भी कोई गारंटी नहीं है कि रिसर्व दिन पर बारिश नहीं होगी.

आईसीसी ने अपने बयान में कहा है की जब कोई मैच मौसम की वजह से प्रभावित होता है, तो वेन्यू पर मौजूद टीम मैच अधिकारियों और ग्राउंड स्टाफ के साथ मिलकर काम करती है. एक मैच करवाने के लिए कम से कम 1200 लोग मौजूद होते हैं.

जिनके ऊपर प्रसारण से लेकर सभी कामों की जिम्मेदारी होती है.इसके साथ हमें सोशल मीडिया या सार्वजनिक घोषणा करके स्टेडियम में मौजूद फैन्स और दूर से आए उन दर्शकों को भी लागातार मैच से जुड़ी जानकारी देनी होती है. इनमें से कुछ लोग लगातार देश भर में घूम रहे हैं ताकि रिसर्व दिन पर अधिकारियों की कमी न हो. लेकिन हमने नॉकआउट और फाइनल मैच के लिए रिसर्व दिन रखा है.

आईसीसी ने कहा है कि इंग्लैंड में इस वक्त बेमौसम बारिश हो रही है. पिछले दो दिनों में हमने जून में औसत बारिश से दोगुना अधिक बारिश का अनुभव किया है जो आमतौर पर ब्रिटेन का तीसरा सबसे सूखा महीना होता है. पिछले साल इसी महीने सिर्फ 2 मिमी बारिश हुई थी लेकिन, पिछले 24 घंटों में इससे कहीं ज्यादा बारिश हो गई है.

Leave a Reply