मोक्ष प्राप्त करने के लिए इस घाट पर शव कर रहे घंटों का इंतजार
  • जब ये सफर खत्म होता है तो सामने होती है जीवन की सच्चाई. मृत्यु. इसके बाद मनुष्य की इच्छा होती है
  • वहीं इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी के कारण लोग शवों को लेकर शाम के समय पहुंच रहे हैं

जन्म अटल है, मृत्यु अट है. ये हम सभी जानते हैं. मनुष्य के रूप में हमारा जीवन बहुत लंबा होता है. इस पूरे सफर में कई तरह के उतार चढ़ाव, खुशियां, परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

जब ये सफर खत्म होता है तो सामने होती है जीवन की सच्चाई. मृत्यु. इसके बाद मनुष्य की इच्छा होती है मोक्ष प्राप्ति की. और मनुष्य को ये मोक्ष मिलता है काशी के मणिकर्णिका घाट में.

मगर इन दिनों इस मोक्ष को प्राप्त करने के लिए भी शवों को लंबा इंतजार करना पड़ रहा है. यहां शवों की कतार लगी हुई है.

काशि के मणिकर्णिका घाट पर शवों की लाइन लग गई है. शवों के अंतिम संस्कार करने के लिए घाट पर वहीं चौकियां भी कम पड़ने लगी हैं. इस कारण लोगों को घंटो इंतजार करना पड़ रहा है.

ये है कारण

दरअसल भीषण गर्मी से मरने वालों की संख्या कुछ दिनों से बढ़ गई है. काशी में बिहार, मध्य प्रदेश, झारखंड, पूर्वांचल समेत कई जगहों से लोग शव दाह करने पहुंचे हैं. लोगों का विश्वास है कि यहां मोक्ष प्राप्त करने की कामना पूरी होती है.

वहीं इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी के कारण लोग शवों को लेकर शाम के समय पहुंच रहे हैं. गर्मी से बचने के लिए दोपहर में शवों के अंतिम संस्कार की क्रियाएं कम हो रही हैं.

वहीं इससे शवों के ट्रैफिक में बढा़वा हुआ है. शवदाह करने के लिए लोगों को 3-4 घंटों का इंतजार करना पड़ रहा है. यहां लोगों की संख्या भी काफी ज्यादा देखी जा रही है.

यहां होती मोक्ष की प्राप्ति

काशी के इस मणिकर्णिका घाट के बारे में कहा जाता है कि जिस शव का अंतिम संस्कार यहां किया जाता है, उसे सीधे मोक्ष प्राप्त होता है. शव की आत्मा को जीवन मरण के चक्र से मुक्ति मिलती है.

यही कारण है कि कई लोगों की इच्छा होती है कि इस घाट पर ही उनका अंतिम संस्कार किया जाए. यहां दिन भर शवों का अंतिम संस्कार होता है.

Trending Tags- Aaj ka Samachar | News Today | Hindi Samachar

Leave a Comment

%d bloggers like this: