Brenton Tarrant

क्राइस्टचर्च (Christ Church) गोलीबारी मामले में आरोपित ब्रेंटन टैरेंट (Brenton Tarrant) को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया. इस दौरान उसने कहा कि वो लोगों की हत्या करने और आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने का दोषी नहीं है.

समाचार चैनल सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक, टेरेंट को ऑकलैंड की जेल से ऑडियो-विजुएल लिंक के माध्यम से क्राइस्टचर्च मामले में अदालत में अपना बयान दर्ज कराया. अदालत में मामले की सुनवााई के दौरान वो वीडियो कैमरे के सामने शांति से बैठा रहा और उसके वकील ने अदालत में दलीलें पेश की.

श्वेतों को सर्वोच्च समझने वाले टैंट पर हत्या के 51, हत्या की कोशिश के 40 और आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के आरोप लगाए गए हैं. ये हमले इस साल 15 मार्च को किए गए थे.

जज कैमरोन मंडर ने कहा कि टैंरेंट की मानसिक जांच की गई है और वो न्यूजीलैंड में हुए नरसंहार मामले का सुनवाई करने का सामना करने के लिए मानसिक तौर पर स्वस्थ पाया गया है. इस मामले की अगली सुनवाई के लिए अगले साल की 4 मई तय की गई है.

Leave a Reply