देश विरोधी ताकतों को प्रोत्साहन देती हैं ममता – दिलीप घोष

  • इस दौरान उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस, स्वामी विवेकानंद, रामकृष्ण परमहंस, गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर जैसे परम देशभक्त जन्मे थे
  • रविवार को उन्होंने नदिया जिले के राणाघाट में नागरिकता अधिनियम के समर्थन में एक जनसभा करते हुए नागरिकता अधिनियम के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करने वालों को गोली मारने की नसीहत दी थी

खड़गपुर. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने मंगलवार को कहा कि पश्चिम बंगाल देशद्रोहियों का गढ़ बन गया है और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ऐसे लोगों को प्रोत्साहन देती हैं.मंगलवार सुबह चाय पर चर्चा करने के लिए वह खड़गपुर पहुंचे थे.

इस दौरान उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस, स्वामी विवेकानंद, रामकृष्ण परमहंस, गुरुदेव रविंद्र नाथ टैगोर जैसे परम देशभक्त जन्मे थे लेकिन इसी भूमि से प्रधानमंत्री गो बैक के नारे लग रहे हैं, पाकिस्तान जिंदाबाद बोला जाता है, भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाए जाते हैं.इसलिए यह कहना पड़ेगा कि पश्चिम बंगाल आज देशद्रोही लोगों का गढ़ बन गया है.दिलीप ने कहा कि जो लोग प्रधानमंत्री गो बैक के नारे लगा रहे थे उनमें हिम्मत नहीं है कि घुसपैठियों के खिलाफ नारेबाजी करें अथवा रोहिंग्याओं के खिलाफ नारे लगाएं.उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक देशद्रोह वाला काम हो रहा है.यह सब कुछ ममता बनर्जी के इशारे पर है.उन्होंने कहा कि बंगाल को देशद्रोहियों से मुक्त करना होगा.

रविवार को उन्होंने नदिया जिले के राणाघाट में नागरिकता अधिनियम के समर्थन में एक जनसभा करते हुए नागरिकता अधिनियम के खिलाफ उग्र प्रदर्शन करने वालों को गोली मारने की नसीहत दी थी.इसे लेकर पार्टी के अंदर से उनका विरोध शुरू हो गया था.आसनसोल से भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने उनके बयान को गैर जिम्मेदाराना कहा था और स्पष्ट किया था कि इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है.

हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश

Also Read: Political News | Dilip Ghosh | Mamata Banerjee

Leave a Reply

%d bloggers like this: