माकपा-कांग्रेस का सहयोग मांगने को लेकर विजयवर्गीय ने किया ममता पर कटाक्ष

  • ममता खुद ही “करेला” है और उस पर से माकपा और कांग्रेस जैसी “नीम” को अपने साथ लाकर जनता को ठगने की कोशिश कर रही है
  • मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा के सत्र में संबोधित करते हुए कहा था कि मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस और वामपंथी देश का कोई नुकसान नहीं करेंगे

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक दिन पहले ही विधानसभा में माकपा और कांग्रेस को तृणमूल के साथ आकर बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लड़ने का आह्वान किया है. इस पर गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल इकाई के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कटाक्ष किया है.

उन्होंने कहा है कि एक तो ममता खुद ही “करेला” है और उस पर से माकपा और कांग्रेस जैसी “नीम” को अपने साथ लाकर जनता को ठगने की कोशिश कर रही है. उन्होंने यह भी कहा है कि मुख्यमंत्री चाहे जितनी भी कोशिश कर लें, उनकी पराजय तय है. विजयवर्गीय ने कहा,

“पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अब काँग्रेस और वामपंथियों से गठबंधन की बात करने लगी हैं. यह इस बात की स्वीकारोक्ति है कि उन्होंने अपनी हार मान ली है लेकिन बंगाल की जनता ‘करेला और नीम चढ़ा” की हकीकत जानती है.दीदी कुछ भी कर लो आपकी पराजय सुनिश्चित है”

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा के सत्र में संबोधित करते हुए कहा था कि मुझे पूरा विश्वास है कि कांग्रेस और वामपंथी देश का कोई नुकसान नहीं करेंगे लेकिन बीजेपी सभी संवैधानिक संस्थाओं को खत्म कर रही है.

ममता ने कहा था कि बीजेपी को छोड़कर बंगाल की सभी राजनीतिक पार्टियां ईमानदारी के रास्ते पर हैं. मैं चाहती हूं कि सभी पार्टियां एक होकर राज्य में बीजेपी के विकास को रोकें.

ममता के इस आह्वान को माकपा-कांग्रेस ने दरकिनार कर दिया है. वाममोर्चा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने स्पष्ट कर दिया है कि ममता बनर्जी की राजनीतिक नैया डूब रही है इसीलिए खुद को बचाने के लिए हमारा साथ लेने की कोशिश कर रही हैं. हम कतई उनकी मदद नहीं करेंगे.

इसी तरह से अब्दुल मन्नान ने भी कहा था कि कांग्रेस बीजेपी के खिलाफ लगातार लड़ रही हैं और इस लड़ाई के लिए उसे ममता के साथ जाने की जरूरत नहीं.

मन्नान ने तो शर्त रख दी थी कि अगर ममता सार्वजनिक तौर पर यह स्वीकार करें कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी को लाने और मजबूत करने के पीछे उनकी भूमिका है, तब वो मदद के बारे में सोच सकते हैं.

हिन्दुस्थान समाचार / ओम प्रकाश

Trending Tags- Political News | Hindi News | Mamata Banerjee

Leave a Reply