ममता का दावा, विधानसभा में एक भी सीट नहीं जीतेगी BJP

कोलकाता, 21 जुलाई. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को शहीद दिवस कार्यक्रम के मंच से चेतावनी दी है कि राज्य में आसन्न विधानसभा चुनाव में भाजपा एक भी सीट नहीं जीतेगी.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने ईवीएम से छेड़छाड़ की, ब्लैक मनी का इस्तेमाल किया, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल (सीएपीएफ), चुनाव आयोग और अन्य संवैधानिक मशीनरी का दुरुपयोग किया तब भी राज्य में महज 18 सीटें जीत सकी है.

बाकी 24 सीटें नहीं जीती फिर भी इतनी उत्साहित हो गई है कि तृणमूल कांग्रेस के दफ्तरों को कब्जा करने की कोशिश कर रही है. हमारे कार्यकर्ताओं को मारा-पीटा जा रहा है. अगर हम इसका जवाब देने लगे तो क्या होगा सोच लें. लेकिन किसी पर हमला करना हमारी संस्कृति नहीं.

उन्होंने कहा कि राज्य में अभी भी तृणमूल कांग्रेस का बहुमत है. भाजपा सत्ता हथियाने का सपना नहीं देखे. ममता ने कहा कि 2009 में तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में 26 लोकसभा सीटें जीती थीं और 2011 में यह बढ़कर 34 पर पहुंची थीं.

34 सालों के वाममोर्चा के शासन से संघर्ष के बाद हमने सत्ता हासिल किया. भाजपा अगर बंगाल फतह का सपना देख रही है तो उसे भी कम से कम 34 साल तक संघर्ष करना होगा.

मुख्यमंत्री ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर पश्चिम बंगाल में माहौल खराब करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दो साल पहले तक भाजपा नेताओं को कोई नहीं जानता था. आज थोड़ी बहुत सीटें जीतकर ये अति उत्साहित हो गए हैं. देश के दूसरे हिस्सों से संघ के नेताओं को लाकर बंगाल में रख रहे हैं.

वे नेता माहौल को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि बिहार में नीतीश कुमार ने संघ पर निगरानी का निर्देश पुलिस को दे दिया है लेकिन मैंने ऐसा कुछ नहीं किया.

मतपत्र से चुनाव कराने की मांग
ईवीएम को खत्म कर वापस बैलट पेपर (मत पत्र) पर लौटने की अपील करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव में ईवीएम से जमकर छेड़छाड़ हुई.

देश भर में गड़बड़ी कर भाजपा जीत गई है लेकिन विधानसभा चुनाव में ऐसा नहीं होगा. उन्होंने कहा कि वे चुनाव आयोग से दरख्वास्त करेंगी कि पंचायत, नगर निगम और नगर पालिका चुनाव में ईवीएम की जगह बैलट पेपर का इस्तेमाल किया जाए.

भाजपा पर लगाया हॉर्स ट्रेडिंग का आरोप
ममता बनर्जी ने दावा किया कि उनकी पार्टी के विधायकों को भाजपा खरीद-फरोख्त की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि विधायकों को दो करोड़ रुपये और पेट्रोल पंप देने का ऑफर दिया जा रहा है. ठीक उसी तरह जैसे कर्नाटक में किया गया.

भाजपा देश भर में ‘हॉर्स ट्रेडिंग’ को बढ़ावा दे रही है ताकि संवैधानिक तौर पर चुनी गई सरकारों को गिराया जा सके. बंगाल में भी यही स्थिति है. उन्होंने यह भी दावा किया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार महज दो सालों तक चलेगी.

उन्होंने कहा कि जिस तरह से केंद्र की सरकार चल रही है वह ज्यादा दिनों तक चलने वाली नहीं है, दो साल के अंदर ही गिर जाएगी. उन्होंने कहा कि संसद सुचारू तरीके से चल रहा है तो इसमें सबसे बड़ी भूमिका विपक्ष की है ना कि सरकार की. हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश

Leave a Comment

%d bloggers like this: