ममता बनर्जी ने बंगाल में बाढ़ के लिए केंद्र को ठहराया जिम्मेदार

कोलकाता. पश्चिम बंगाल की हर समस्या के लिए अकसर केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराने वाली मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में बाढ़ की स्थिति बनने के लिए भी केंद्र सरकार को ही जिम्मेदार ठहराया है. विधानसभा के पटल पर खड़ा होकर उन्होंने मंगलवार को कहा कि राज्य को बाढ़ में डुबाने की साजिश रची जा रही है.

उन्होंने कहा कि बंगाल हर वर्ष बाढ़ में डूब जाता है. दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) का नवीकरण नहीं किया जा रहा है. फरक्का में ड्रेजिंग भी नहीं होती है. बाढ़ आने पर झारखंड भी अपने हिस्से का पानी पश्चिम बंगाल की ओर छोड़ देता है. कुल मिलाकर कहा जाए तो पश्चिम बंगाल को डुबाने की साजिश रची जा रही है.

दरअसल आत्रेयी नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर उठने के बारे में विधानसभा में सवाल पूछा गया था. इसके जवाब में मुख्यमंत्री ने उक्त बातें कहीं. उन्होंने कहा कि वर्तमान में आत्रेयी नदी की हालत खराब है. इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ-साथ बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना को भी चिट्ठी लिखी गई है.

ममता ने आरोप लगाया कि बांग्लादेश के साथ इस मसले को लेकर कई दौर की बैठक हुई है लेकिन केंद्र सरकार ने इस मामले को छुआ तक नहीं. उन्होंने कहा कि केवल फरक्का ही नहीं बल्कि डीवीसी के नवीकरण और मरम्मत के लिए भी लंबे समय से राज्य सरकार आवेदन करती रही है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि बारिश के समय डीवीसी बिना राज्य सरकार को जानकारी दिए पानी छोड़ देता है. जिससे राज्य के कई हिस्सों में बाढ़ की स्थिति बन जाती है.

उन्होंने कहा कि राज्य की जो भौगोलिक स्थिति के अनुसार बारिश के समय राज्य के विस्तृत इलाके में पानी भर जाता है. इसके सुधार और नवीकरण की जरूरत है. जिसके लिए केंद्र सरकार के पास आवेदन दिए गए हैं लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है.

ममता ने कहा कि मैं विधानसभा के पटल से मीडिया के जरिए केंद्र सरकार से अपील कर रही हूं कि राज्य के लोग बाढ़ में नहीं डूबें. यहां जिस तरह की भी समस्याएं हैं. उनके समाधान के लिए केंद्र सरकार कदम उठाए.

हिन्दुस्थान समाचार /ओम प्रकाश

1 thought on “ममता बनर्जी ने बंगाल में बाढ़ के लिए केंद्र को ठहराया जिम्मेदार”

Leave a Comment

%d bloggers like this: