Mamata Banerjee की तुष्टिकरण की राजनीति, मुस्लिम छात्रों के लिए अलग डाइनिंग रूम बनाने का दिया आदेश

भारत का संविधान जहां सभी को समानता का अधिकार देता है, वहीं पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तुष्टिकरण करने की कोशिश कर रही हैं. दरअसल मुख्यमंत्री ममता (Mamata Banerjee) ने स्‍कूलों को निर्देश दिया है कि वे मुस्लिम स्‍टूडेंट्स (Muslim Students) के लिए अलग से मिड-डे मील हॉल रिजर्व करें.

ममता सरकार (Mamata Government) का यह फैसला राज्य के उन सरकारी स्‍कूलों पर लागू होगा जहां पर 70 फीसदी या उससे ज्‍यादा मुस्लिम छात्र हैं. सरकार ने सरकारी स्कूलों से बकायदा इसके लिए एक एडवाइजरी जारी की है. और सभी विद्यालयों से डाटा मंगवाया है.

सरकार के आदेश को लागू करने के लिए पश्चिम बंगाल के अल्पसंख्यक (Minority) मामले और मदरसा शिक्षा विभाग ने उन सभी सरकारी विद्यालयों की तुरंत सूची मांगी है, जहां मुस्लिम छात्रों की संख्या 70 प्रतिशत से ज्यादा है.

कूच बिहार जिला मैजिस्‍ट्रेट की ओर से आदेश जारी करके सरकारी स्कूलों से डाटा मांगा गया है. विशेष सचिव के 14/06/19 को लिखे पत्र के अनुसार पश्चिम बंगाल सरकार आपसे आग्रह करती है कि आप उन सरकारी, सरकारीय सहायता प्राप्त विद्यालयों के 28 जून तक नाम भेजें जहां अल्पसंख्यक छात्रों की संख्या 70 प्रतिशत से ज्यादा है. विभाग इन विद्यालयों में मिड डे मील के लिए अलग डाइनिंग रूम बनाने का प्रस्ताव देगा.

बीजेपी ने बोला हमला

टीएमसी (TMC) सरकार के इस फैसले के खिलाफ अब बीजेपी (BJP) ने हमला बोल दिया है. पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्‍यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने ट्वीट कर सवाल किया है कि धर्म के आधार पर छात्रों के साथ यह भेदभाव क्‍यों किया जा रहा है? इस अलगाव के पीछे कोई दुर्भावना तो नहीं है? एक और साजिश?

2021 में हैं विधानसभा चुनाव

राज्य में 2021 में विधानसभा चुनाव हैं. हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में वहां बीजेपी ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए 18 सीटों पर जीत हासिल की है. बीजेपी के बढ़ते दायरे से ममता बनर्जी घबरा गई हैं. बीजेपी को हराने के लिए वे कांग्रेस और वामदलों को साथ आने तक का निमंत्रण दे चुकी हैं.

बीजेपी की बढ़ी ताकत

कभी वाम मोर्चा का गढ़ कहे जाने वाला बंगाल 2012 से तृणमूल का किला बना हुआ है, लेकिन बीजेपी इसमें सेंध लगाकर बड़ी तेजी से अपना दायरा बढ़ा रही है. टीएमसी के दर्जन भर से ज्यादा बड़े नेताओं ने बीजेपी का दामन थाम लिया है. और अब ममता को सत्ता बाहर करने में लगे हुए हैं.

बीजेपी-टीएमसी में टकराव

राज्य में लोकसभा चुनाव के पहले से बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं में टकराव की स्थिति बनी हुई है. लगातार बीजेपी कार्यकर्ताओं की हत्याएं हो रही हैं. बीजेपी अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह भी इसको लेकर चिंता जाहिर करते हुए सरकार से इस पर ध्यान देने की अपील कर चुके हैं.

2 thoughts on “Mamata Banerjee की तुष्टिकरण की राजनीति, मुस्लिम छात्रों के लिए अलग डाइनिंग रूम बनाने का दिया आदेश”

Leave a Reply

%d bloggers like this: