महाराष्ट्र सरकार ने भी घरेलू उड़ानों को दी इजाजत, रोजाना उड़ सकेंगे सिर्फ 25 विमान

महाराष्ट्र सरकार ने भी घरेलू विमान शुरू करने की इजाजत दे दी है. महाराष्ट्र सरकार के अनुसार कोरोना संक्रमण को देखते हुए मुंबई से रोजाना 25 फ्लाइट उड़ और उतर सकेंगी. धीरे-धीरे यह संख्या बढ़ाई जाएगी. ये जानकारी महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने दी.

हालांकि पहले महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना वायरस के कारण इसे अभी इजाजत नहीं दी थी. पहले महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा था कि राज्य में जिस तेजी से कोरोना संक्रमिक मरीज मिल रहे हैं, उससे अभी घरेलू उड़ानों को इजाजत देना खतरनाक साबित हो सकता है.

यात्रियों को भरना होगा डिक्लेरेशन फॉर्म

घरेलू उड़ानों को लेकर केंद्र सरकार ने स्पष्टीकरण जारी किया. केंद्र सरकार के अनुसार जो लोग स्मार्टफोन इस्तेमाल नहीं करते या जिनके फोन में आरोग्य सेतु ऐप नहीं होगी, उन्हें विमान में बैठने से पहले एक डिक्लेरेशन फॉर्म भरना होगा. इस फॉर्म में उनसे उनकी ट्रैवल हिस्ट्री और सेहत की जानकारी मांगी जाएगी.

केंद्र सरकार पहले ही साफ कर चुकी है कि केवल उन्हीं यात्रियों को सफर की इजाजत दी जाएगी, जिनमें कोरोना वायरस का कोई लक्षण नहीं होगा.

‘क्वारंटीन में रहना अनिवार्य होगा’

पहले महाराष्ट्र, दिल्ली और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों ने घरेलू उड़ानों को बहाल करने पर विरोध जताया था. लेकिन फिर उन्होंने भी इसे स्वीकार कर लिया. ज्यादातर राज्यों ने घरेलू विमान सेवा का विरोध नहीं किया है. घरेलू उड़ानों को भले ही इजाजत मिल गई हो लेकिन राज्य सरकारों की ओर से साफ कर दिया गया है कि आने वाले सभी यात्रियों को क्वारंटीन में रहना होगा. ज्यादातर राज्यों ने साफ कहा कि उनके राज्य में आने वाले यात्रियों को पहले क्वारंटीन (एकांतवास) किया जाएगा. उन्होंने कहा कि राज्य में चाहे कोई भी, किसी भी माध्यम से आए उसे पहले एकांतवास में रहना होगा.

Leave a Reply

%d bloggers like this: