माधुरी कानिटकर बनीं तीसरी महिला लेफ्टिनेंट जनरल, पति भी LG से हुए थे रिटायर

देश की आधी आबादी हर दिन नए आयाम छू रही है. आज महिला शक्ति ने रक्षा क्षेत्र में भी नया कीर्तिमान स्थापित किया है. मेजर जनरल माधुरी कानिटकर को लेफ्टिनेंट जनरल की अगली रैंक के लिए मंजूरी दे दी गई है. 

उनके पति राजीव एक सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल हैं. यह भारत के इतिहास में पहली बार होगा कि पति और पत्नी दोनों भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट जनरल रहे हैं. यह जानकारी एविएशन एंड डिफेंस यूनिवर्स की संपादक संगीता सक्सेना ने दी है.

माधुरी कानित्कर लेफ्टिनेंट जनरल बनने वाली इंडियन आर्म्ड फोर्स की तीसरी महिला अधिकारी हैं. उन्हें अब आर्मी मुख्यालय में, इंटीग्रेटेड डिफेंस स्टाफ में तैनात किया गया है, जो चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के तहत आता है.

मेजर जनरल माधुरी कानिटकर आर्म्ड फोर्स मेडिकल कॉलेज, पुणे की पूर्व डीन रह चुकी हैं. मेजर जनरल माधुरी कानिटकर और उनके पति लेफ्टिनेंट जनरल राजीव भी लेफ्टिनेंट जनरल रह चुके हैं. इसलिए देश का यह पहला दंपति हैं जिन्होंने सशस्त्र में यह रैंक हासिल की है.

बता दें कि लेफ्टिनेंट जनरल के पद को संभालने वाली पहली महिला जनरल पुनीता अरोड़ा थीं. पुनीता एक सर्जन वाइस-एडमिरल और भारतीय नौसेना और भारतीय सेना की पूर्व 3-स्टार फ्लैग ऑफिसर थीं. बाद में भारतीय वायु सेना (IAF) की महिला एयर मार्शल पद्मावती बंदोपाध्याय इस पद पर पदोन्नत होने वाली दूसरी महिला थीं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: