59 एप्स बैन के बाद आत्‍मनिर्भर भारत की ओर पीएम मोदी का बड़ा कदम, युवाओं को दिया ऐप बनाने का चैलेंज

pm modi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. 59 चीनी एप्स को बैन करने के बाद मोदी सरकार ने आत्‍मनिर्भर भारत की दिशा में आगे बढ़ने के लिए एक अहम कदम उठाया है. दरअसल सरकार ने आत्‍मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज लांच करते हुए युवाओं से आहवान किया कि वह ऐप्‍स बनाएं.

केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर भारत ऐप इनोवेशन चैलेंज  की शुरुआत की है, जिससे देश में ही कई तरह की मोबाइल ऐप का निर्माण हो सके और वो आम जनता के लिए बेहद उपयोगी और आसान हों.

मोदी सरकार ने ये चैलेंज युवाओँ को प्रेरित करने के लिए शुरू किया है. साथ ही सरकार की ये कोशिश भी है कि कोई और देश एप्स के बाजार पर चीन की ही तरह कब्जा न जमा सकें.

कोरोना के कारण बदले हालात और चीन के साथ सीमा विवाद के बाद से ही देश में स्वदेशी उत्पादों और सेवाओं के इस्तेमाल और निर्माण पर जोर दिया जा रहा है.

आत्‍मनिर्भर भारत मिशन के तहत स्‍टार्ट-अप और टेक कम्‍युनिटी की मदद के लिए इसको लांच किया गया है. पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा कि आज जब पूरा देश आत्‍मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने की दिशा में अग्रसर है तो ऐसे में यह अच्‍छा अवसर है कि ऐसे प्रयत्‍नों को प्रोत्‍साहित किया जाए जोकि ऐसे ऐप्‍स बनाएं जो हमारे बाजार को संतुष्‍ट करने के साथ-साथ दुनिया के साथ भी प्रतिस्‍पर्द्धा कर सकें.

केंद्र सरकार के इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय की ओर से चलाए जा रहे इस चैलेंज के तहत इन 8 कैटेगरी में नई ऐप के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है.

ई-लर्निंग, स्वास्थ्य, वर्क फ्रॉम होम, गेमिंग, बिजनेस और ऑफिस प्रोडक्टिविटी-वर्क फ्रॉम होम , एंटरटेनमेंट, सोशल नेटवर्किंग,  एग्रीटेक और फिनटेक के लिए एप्स बनाने हैं. ये चैलेंज दो स्तर पर काम करेगा. पहले स्तर पर सरकार इन एप्स को यूज करेगी और क्वालिटी चेक करेगी.

दूसरे स्तर पर नए ऐप्‍स और प्‍लेटफॉर्म बनाने के लिए आइडिएशन के स्‍तर से लेकर के बाजार की पहुंच तक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी. लोगों से एप्स के रिव्यू मांगे जायेगें उसके बाद उसे प्रमोट किया जायेगा.

ज्यादा से ज्यादा भारतीय दिमागों को इस ओर खींचने के लिए केंद्र सरकार ने ऐप चैलेंज के साथ ही ईनाम की घोषणा भी की है. अलग-अलग कैटेगरी के हिसाब से ये ईनाम 2 लाख रूपये से 20 लाख रूपये तक हैं.

इस चैलेंज से जुड़ी सारी जानकारी innovate.mygov.in पर मिल जाएगी और इसमें आवेदन करने की आखिरी तारीख 18 जुलाई 2020 है.