राजनीति से ज्यादा रोमांचक है सचिन पायलट की लवस्टोरी, लगा बैठे थे मुस्लिम लड़की से दिल

नई दिल्ली. कहते हैं प्यार में वो ताकत होती है जो किसी भी दीवार को गिरा देती है… एक ऐसी ही प्रेम कहानी है सारा और सचिन की.. अगर किसी चीज को पूरे दिल से चाहो, तो पूरी कायनात उसे तुमसे मिलाने की कोशिश में लग जाती है’… शाहरुख खान की फिल्म का ये डायलॉग असल जिंदगी में इन दोनों की लव लाइफ पर सटीक बैठता है….

लंदन में होती है सचिन पायलट और सारा की मुलाकात- सचिन और सारा की मुलाकात लंदन में होती है… इसके कुछ दिन बाद दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे…लेकिन इस राह में सबसे बड़ा रोड़ा थी मजहब की दीवार…जी हां आज हम बात कर रहे हैं कांग्रेस के दिग्गज नेता राजेश पायलट के बेटे सचिन पायलट और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूख अब्दुल्ला की बेटी सारा पायलट की…. सचिन और सारा की जोड़ी ने धर्म , जाति और राजनीती से उपर उठकर अपनी दुनिया बसाई…

फारूक अब्दुल्ला की बेटी हैं सचिन पायलट की पत्नी- फारूक अब्दुल्ला की बेटी और उमर अब्दुल्ला की बहन सारा अब्दुल्ला और सचिन पायलट की प्रेम कहानी जब शुरू होती है जब वो लंदन में पढ़ाई कर रहे थे….सचिन पेनसिल्वेनिया यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई करने गए थे, इसी दौरान उनकी मुलाकात सारा अब्दुल्लाह से होती है और कुछ दिनों के बाद दोनों एक दूसरे को डेट करने लगे… पढ़ाई पूरी करने के बाद सचिन वापस आ गए लेकिन सारा लंदन में ही रहीं….दोंनों के बीच के प्यार ने इस लॉंग डिस्टेंस रिलेशनशिप को भी ज़िंदा रखा और ईमेल ,फोन के ज़रिए लगभग तीन साल तक दोनों एक दूसरे को डेट करते रहे….

दोनों के प्यार के बीच खड़ी हुई धर्म की दीवार- सचिन और सारा ने जब अपने परिवार वालों को बताया तो दोनों के प्यार के बीच मजहब की दीवार आ खड़ी हुई… एक तरफ सचिन हिंदू परिवार से थे, तो वहीं सारा का ताल्लुक मुस्लिम परिवार से था…हाई प्रोफाइल होने के बावजूद , धर्म की दीवार थी… सचिन के परिवार ने भी शादी से साफ इंकार कर दिया….वहीं फारूख अब्दुल्ला ने सारा से इस विषय पर बात करने से भी मना कर दिया…

सारा-सचिन ने परिवारों को मनाने की कोशिश की- कहा जाता है कि सारा अपने पिता को मनाने की बहुत कोशिश करती रहीं.. लेकिन उनके पिता नहीं पिघले….इधर सचिन के परिवार में भी मुस्लिम लड़की को बहू के रूप में स्वाीकार करने को कोई राजी नहीं था….घर की बंदिशें और पिता की डांट भी सारा की मोहब्बत कम नहीं कर पाई. ..सचिन पायलट से शादी करने के लिए और उनकी मोहब्बत ने सारा को घर छोड़ने पर मजबूर कर दिया. ..

साल 2004 में शादी के बंधन में बंधे- तमाम मुसीबतों को दरकिनार करते हुए उन दोनों ने एक बड़ा कदम उठाया….जनवरी 2004 में सारा ने अपने परिवार की परवाह किए बिना ही सचिन से शादी कर ली….बेहद सिंपल तरीके से हुई इस शादी में अब्दुल्ला परिवार से कोई शामिल तो नहीं हुआ लेकिन सचिन के परिवार उस समय मौजूद था..

दो बेटे हैं आरान और विहान- वक्त ने अब्दुल्ला परिवार के ज़ख्मों को भी भर दिया और फारूख अब्दुल्ला ने सचिन पायलट को अपने दामाद के रूप में स्वीकार कर लिया.…बता दें कि सारा-सचिन के दो बेटे आरान और विहान अब अकसर उनके साथ देखे जा सकते हैं..

सचिन की राजनीति में गहरी पैठ- वहीं, कभी सियासत में कदम न रखने की बात कहने वाले सचिन पायलट भी राजनीति गलियारों में अपनी धाक जमा चुके हैं तो वहीं, सारा सोशल वर्क में बिजी रहती हैं..दोनों को परफेक्ट कमल का टाइटल दिया जा सकता है…. कई लोग इनकी शादी को प्यार की मिसाल भी बोलते है…..आज ये कपल हैप्पी मैरिड लाइफ इंजॉय कर रहा है …

Leave a Reply

%d bloggers like this: