बंगाल में बवाल, बीजेपी कार्यकर्ताओं और कोलकाता पुलिस में हुई झड़प

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर से बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की रैली को परमिशन नहीं मिल पाई. आज (सोमवार को) अमित शाह की राज्य में तीन रैलियां होनी थीं, जिन्हें रद्द कर दिया गया. इसके बाद शाह ने जय नगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी पर जमकर वार किया.

रैली रद्द होने पर शाह ने कहा कि मेरी यहां तीन रैलियां होनी थीं. जयनगर में तो आ गया, लेकिन दूसरी जगह ममता दीदी के भतीजे की सीट थी. इसीलिए वहां पर हमारे जाने से ममताजी डरती हैं. उन्होंने कहा कि वो डरती हैं कि बीजेपी वाले इकट्ठे होंगे तो भतीजे का तख्त उल्टा हो जाएगा.

जाधवपुर लोकसभा सीट के बरूईपुर में उनके हेलीकॉप्टर को उतरने की अनुमति नहीं देने शाह ने कहा कि ममता बनर्जी की सरकार स्पष्ट रूप से घबराई हुई है. वह मुझे रैलियां करने से रोकना चाहती हैं. क्या आप इस तरह अपनी हार रोकना चाहती हैं?

उन्होंने कहा कि तृणमूल मुझे रैलियां संबोधित करने से रोक सकती है लेकिन वह पश्चिम बंगाल में बीजेपी की विजय यात्रा नहीं रोक सकती.

वहीं उनकी कोलकाता रैली में पुलिस और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच भी झड़प हुई. जानकारी के मुताबिक कोलकाता पुलिस ने स्टेज से जुड़े परमिशन मांगे और पेपर न देने पर मंच को तोड़ने को कहा है. इसे लेकर विवाद पैदा हो गया.

https://platform.twitter.com/widgets.js

कोलकाता पुलिस और राज्य चुनाव आयोग के अधिकारी सड़कों से पीएम मोदी और अमित शाह का पोस्टर हटावा दिए. जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया. इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी की.

इस घटना पर बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने आरोप लगाया है कि राज्य चुनाव आयोग के अधिकारी ममता सरकार के समर्थक के रूप में काम कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में को लेकर वह चुनाव आयोग को पत्र लिख रहे हैं और जिम्मेदार अधिकरी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

%d bloggers like this: