किसान क्रेडिट कार्ड बनवाएं, और बिना गारंटी पाएं 2% ब्याज दर में 3 लाख रुपए लोन

किसान क्रेडिट कार्ड भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसका उद्देश्य असंगठित क्षेत्र के किसानों साहूकारों एवं सूदखोरों के शोषण से बचाना है.साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में साहूकारों द्वारा वसूल की जाने वाली उच्च-ब्याज दरों से किसानों को बचाना है.

किसान क्रेडिट कार्ड के तहत ब्याज दर 2.00% तक कम हो सकती है. इसके अलावा पुनर्भुगतान की अवधि फसल की कटाई या व्यापार अवधि पर निर्धारित होती है जिसके लिए लोन की राशि ली गई थी.

किसान क्रेडिट कार्ड पर किसान भाई खेती संबंधी लोन ले सकता है, वो भी काफी सस्ती दर पर मिलता है. बता दें कि इसके जरिए 3 लाख रुपए तक का लोन बिना गारंटी पर मिल जाता है.

“महत्वपूर्ण जानकारी”
COVID-19 के मद्देनजर, लोन और क्रेडिट कार्ड पेमेंट पर EMI मोराटोरियम को 31-अगस्त -2020 तक बढ़ाया गया है. अब आप अपने किसान क्रेडिट कार्ड लोन पर मोराटोरियम का लाभ उठा सकते हैं और 31-अगस्त -2020 तक बैंकों को भुगतान की जाने वाली किस्त को स्थगित कर सकते हैं.

अगर आप किसान क्रेडिट कार्ड (Kisan Credit Card) बनवाना चाहते हैं, लेकिन बैंकों के बार-बार चक्कर लगाकर परेशान हो गए हैं, लेकिन फिर भी आपका किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बन पा रहा है, तो आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. हम आपको देश के टॉप 5 बैंक के बारे में बताते हैं.जहां जल्द से जल्द आपका किसान क्रेडिट कार्ड बन जाएगा. इसके लिए आप ऑनलाइन या बैंक में जाकर आवेदन कर सकते हैं.

“KCC सुविधा देने वाले देश के टॉप बैंक”

ऐक्सिस बैंक (Axis Bank)

बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India)

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (State Bank of India)

आईसीआईसीआई किसान क्रेडिट कार्ड (ICICI Kisan Credit Card)

एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)

“किसान क्रेडिट कार्ड के लाभ और विशेषताएं”

ब्याज दर 2.00% तक कम हो सकती है.

1.60 लाख रुपये तक के लोन बिना किसी सिक्योरिटी /लोन गारंटी के प्रदान किए जाते हैं.

किसानों को फसल बीमा योजना भी प्रदान की जाती है.

किसानों को निजी बीमा कवरेज भी प्रदान की जाती है.

स्थायी विकलांगता और मृत्यु पर 50,000 रुपये तक.

अन्य जोखिमों के मुकाबले 25,000 रुपये तक प्रदान किया जाता है.

भुगतान की अवधि फसल की कटाई और व्यापार अवधि पर आधारित होती है जिसके लिए लोन राशि ली गई थी.

कार्ड धारक द्वारा 3.00 लाख रुपये तक की लोन राशि निकाली जा सकती है.

1.60 लाख रुपये तक के लोन पर सिक्योरिटी की आवश्यकता नहीं है.

किसान अपने किसान क्रेडिट कार्ड खाते में बचत पर उच्च ब्याज दर प्राप्त करते हैं.

साधारण ब्याज दर तब तक चार्ज की जाती है जब तक उपयोगकर्ता शीघ्र भुगतान करता है. अन्यथा चक्रवृद्धि ब्याज दर लागू लागू हो जाता है.

“किसान क्रेडिट कार्ड के लिए योग्यता एवं शर्तें”

सभी किसान जो अकेले या अधिक व्यक्ति के साथ मिलकर खेती या खेती से संबंधित कार्य करते हैं. 

वे व्यक्ति जो स्वामी सह कृषक हैं.

सभी एक्सबर्ड किसान या मौखिक पट्टीदार और कृषि भूमि में बटाईदार हैं.

स्वयं सहायता समूह या संयुक्त देयता समूह जिसमें एक्सबर्ड किसान या बटाईदार  शामिल हैं.

किसानों को 5000 रु और उससे अधिक के उत्पादन लोन के लिएयोग्य होना चाहिए वही किसान क्रेडिट कार्ड का पात्र होगा.

सभी किसान जो फसल उत्पादन या किसी भी संबद्ध गतिविधियों के साथ – साथ गैर – कृषि गतिविधियों के लिए शार्ट-टर्म लोन के लिए योग्य हैं.

किसानों को बैंक के क्षेत्र का निवासी होना चाहिए.

“KCC के आवेदन के लिए दस्तावेज”

पैन कार्ड , वोटर आईडी , ड्राइविंग लाइसेंसपासपोर्ट आदि जैसे पहचान प्रमाण.

एड्रेस प्रूफ जैसे आधार कार्ड पैन कार्ड वोटर आईडी ड्राइविंग लाइसेंस, कोई अन्य सरकार द्वारा स्वीकृत आईडी.

आवेदक का पासपोर्ट आकार का फोटो.

विधिवत भरे हुए और हस्ताक्षर किया हुआ आवेदन फॉर्म.

आवेदक ध्यान दें कि दस्तावेज़ और अन्य औपचारिकताएं बैंक के आंतरिक दिशानिर्देशों के अनुसार भिन्न हो सकते हैं.ऊपर दी गई लिस्ट में केवल कुछ मूल दस्तावेज़ शामिल हैं.

इस योजना के तहत किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करने की आवश्यकता है:

एक पेज का फॉर्म भरा जाना चाहिए जो सभी कॉमरशियल बैंकों की वेबसाइट पर उपलब्ध होगा और सभी प्रमुख समाचार पत्रों में भी प्रकाशित होगा.

आवेदक को जमीन के रिकॉर्ड और बोई गई फसल जैसी आवश्यक जानकारी भरनी होगी.

कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) में फॉर्म भरे और जमा किए जा सकते हैं और वे भरे हुए फॉर्म बैंक शाखाओं में ट्रांसफर करने के लिए भी अधिकृत हैं. बैंकों को यह भी निर्देश दिया गया है कि वे मौजूदा ग्राहकों को योजना के तहत लोन लेने के लिए प्रेरित करें.

गौरतलब है कि बैंक लाखों किसानों को किसान क्रडिट कार्ड (Kisan Credit Card) मुहैया करवा चुके हैं. इन बैंक के जरिए किसान आसानी से और कम समय में कार्ड बनवा सकते हैं.

जानकारी के लिए बता दें कि इस कार्ड की वैलिडिटी की 5 साल की होती है. इसके बाद इसे रिन्यू करवाया जाता है. इसके साथ ही पीएम किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड दिया जाता है.

इसके अलावा किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहता है तो वह किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया और आईडीबीआई बैंक, नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया बैंक में जाकर आवेदन कर सकता है.

हिंदुस्थान समाचार/कर्मवीर सिंह तोमर

Leave a Reply

%d bloggers like this: