दीदी के बोलो' कार्यक्रम का जवाब अब यूं देंगे वामपंथी छात्र, पढ़िए पूरी खबर

सिंगूर. राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के ‘दीदी के बोलो’ कार्यक्रम के जवाब में वामपंथी छात्र संगठन ने नया अभियान चला दिया है. इस अभियान का नाम ‘बोले लाभ नेई, नवान्न चलो’ है. ये अभियान अगले दो दिनों तक चलेगा.

जानिए क्यों हो है ये अभियान

आरोप है कि मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों में पढ़ाई-लिखाई का खर्च कम नहीं हुआ है.कॉलेज में नामांकन के नाम पर शासक दल के नेता कट मनी ले रहे हैं. राज्य में नए उद्योग नहीं हैं. रोजगार के अवसर बंद हैं.केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार भी राज्य में मौजूद कई राष्ट्रीय संस्थओं को विनिवेश के रास्ते पर ले जा रही है.

इसके विरोध में वमा छात्र संगठनों की ओर से सिंगुर से नवान्न चलो का आह्वान किया गया है.

डीवाईएफआई के प्रदेश सचिव सायनदीप मित्र ने इस संदर्भ में बताया कि सिंगुर में यदि कारखाना बनता तो राज्य में नए उद्योगों के लिए पथ प्रशस्त होता.

सिंगुर में कारखाना न बनने देने वाले आज नवान्न में हैं.इसलिए सिंगुर से नवान्न तक बाम छात्र संगठन अभियान चला रहे हैं.

इससे पहले भी अपने विभिन्न मांगों के साथ नवान्न अभियान चला चुके हैं.उस समय वामपंथियों के अभियान को मेयो रोड पर ही रोक दिया गया था. उस दौरान पुलिस की लाठी से कई वाम नेता घायल भी हुए थे.

हिन्दुस्थान समाचार/धनंजय

Leave a Comment

%d bloggers like this: