Hons. के अलावा ये भी हैं DU में कोर्स ऑप्शन

आजकल कॉम्पीटिशन का जमाना है. जिस कैंडिडेट के पास ज्यादा से ज्यादा स्किल और टैलेंट उसकी उतनी ही अधिक डिमांड.

आजकल के जमाने में लैंग्वेज सिखने का बहुत क्रेज देखने को मिल रहा है. अलग अलग लैंग्वेज वालों के लिए आजकल करियर ऑप्शन भी बहुत हैं.

ऐसे ही लैंग्वेज में करियर बनाने वालों के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी (DU) भी आगे है. यहां सिर्फ ऑनर्स में होने वाली ग्रेजुएशन ही नहीं बल्कि और भी कई प्रोग्राम होते हैं.

DU से आप लैंग्वेज में भी कई तरह के कोर्स कर सकते हैं. यहां डिप्लोमा, सर्टिफिकेट कोर्स समेत कई कोर्स होते हैं. इन कोर्स की खासियत है कि आप इन्हें नॉर्मल डिप्लोमा कोर्स के साथ साथ भी कर सकते हैं.

DU में सिर्फ फॉरेन लैंग्वेज ही नहीं बल्कि मॉडर्न इंडियन लैंग्वेज (MIL) भी सिखाई जाती हैं. DU के लैंग्वेज डिपार्टमेंट की एक अधिकारी का कहना है कि लैंग्वेज कोर्स करना स्टूडेंट्स के लिए अच्छा ऑप्शन होता है, क्योंकि इससे उन्हें दूसरे कल्चर के साथ साथ लिटरेचर की जानकारी भी मिलती है.

कई विकल्प मौजूद

लैंग्वेज कोर्स करने के लिए स्टूडेंट्स के पास DU में कई विकल्प मौजूद हैं. यहां फ्रेंच, जर्मन, इटैलियन और स्पैनिश कोर्स करवाया जाता है.

ये चार कोर्स ऑनर्स की डिग्री भी देते हैं. इस कोर्स को करने से लैंग्वेज में राइटिंग, रीडिंग सीख सकते हैं. इसके अलावा ग्रामर, ट्रांसलेशन करना भी सिखाया जाता है. साथ ही लैंग्वेज की हिस्ट्री, जिस देश की लैंग्वेज है वहां का कल्चर सिखने का भी मौका मिलता है.

वहीं अगर किसी स्टूडेंट को तीन साल की ऑनर्स की डिग्री पूरी नहीं करनी है तो इन कोर्स को पढ़कर दो साल की डिप्लोमा डिग्री भी ले सकते हैं.

इसके अलावा यहां पार्ट टाइम कोर्स भी किए जा सकते हैं. कई कॉलेज भी सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और एडवांस कोर्स चलाते हैं.

इन लैंग्वेज में कर सकते हैं कोर्स

DU में फ्रेंच, जर्मन, इटैलियन और स्पैनिश के अलावा रशियन, पोलिश, हंगेरियन, लैंग्वेज में कोर्स किए जा सकते हैं. इनके अलावा चाइनीज, जैपनीज और कोरियन डिपार्टमेंट से भी अलग अलग लेवल के कोर्स किए जा सकते हैं.

मॉडर्न अरेबिक डिपार्टमेंट से भी कोर्स किया जा सकता है. पाली, तिब्बती भाषा में इंटरेस्ट है तो विभाग से कोर्स कर सकते हैं.

1 thought on “Hons. के अलावा ये भी हैं DU में कोर्स ऑप्शन”

Leave a Comment

%d bloggers like this: