हैदराबाद की कुलसुम बानो ने सुषमा को कहा THANK YOU, जानिए क्यों
  • नौकरी के नाम पर हैदराबाद से ओमान ले जाई गई एक महिला 5 महीने बाद देश वापस लौट आई है
  • मैंने वहां एक महीने तक काम किया और फिर काम करने से मना कर दिया.” पार्लर के नाम पर उससे नौकरानी का काम कराया जाता था

नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वराज अक्सर सोशल मीडिया पर लोगों की हेल्प करती हुई नजर आती है. लोग उनका तहेदिल से धन्यवाद भी करते हैं. कुलसुम को पांच महीने के बाद ओमान की राजधानी मस्‍कट से बचाकर देश वापस लाया जा सका है

नौकरी के झांसे में फंसी महिला- ये मामला हैदराबाद का है जहां पर नौकरी के झांसे में आकर एक महिला जिसका नाम कुलसुम बानो हैं ओमान में फंस गई थी जिसके बाद सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगाने के बाद अपने वतन वापस आ गई. कुलसुम बानो ने मदद के लिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को धन्यवाद कहा है.

पांच महीने बाद लौटीं वापस- नौकरी के नाम पर हैदराबाद से ओमान ले जाई गई एक महिला 5 महीने बाद देश वापस लौट आई है. लौटकर उसने अपनी आप बीती साझा की है. महिला की माने तो, ‘इस मामले में मेरी बेटी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को पत्र लिखकर शिकायत दर्ज की थी.

कुलसुम (kulsum bano) का कहना है कि अबरार नाम के एक एजेंट ने उन्हें मस्कट (muskat) में ब्यूटी पार्लर में नौकरी दिलाने का ऑफर दिया था. एजेंट ने कहा था कि हर महीने 30 हजार रुपये सैलरी मिलेगी.

उनका कहना है, “मैंने वहां एक महीने तक काम किया और फिर काम करने से मना कर दिया.” पार्लर के नाम पर उससे नौकरानी का काम कराया जाता था.

भारतीय दूतावास ने अदा किया जुर्माना- आरोप लगाते हुए कहा कि दस दिनों तक कमरे में बंद करके उनके साथ मारपीट की गई और खाने को भी कुछ नहीं दिया गया. भारतीय दूतावास ने उन पर लगाया गया पांच हजार रियाल का जुर्माना अदा किया और उन्हें वापस भारत भेज दिया.

Trending Tags- Sushma Swaraj | kulsum bano | Oman | Hyderabad | Latest News | Breaking News

%d bloggers like this: