ममता की बढ़ी मुश्किलें, अव्यवस्थाओं के खिलाफ कोलकाता पुलिस ने खोला मोर्चा

Kolkata Police
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

कोलकाता, प. बंगाल।

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पुलिसकर्मियों ने अव्यवस्था के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है. मंगलवार देर रात कॉम्बैट फोर्स के सैकड़ों जवानों ने कॉम्बैट फोर्स के डिप्टी कमिश्नर (डीसी) का घेराव किया.

दावा है कि धक्का-मुक्की भी हुई जिसकी वजह से डीसी कॉम्बैट घायल हुए हैं. उन्हें प्राथमिक चिकित्सा के लिए अस्पताल ले जाना पड़ा था. देर रात तक यह विरोध प्रदर्शन चलता रहा. घंटों तक पुलिस कर्मियों ने रह रह कर नारेबाजी और हंगामा करना जारी रखा था.

धीरे-धीरे पुलिसकर्मियों की संख्या बढ़ती जा रही थी, जिसकी वजह से लालबाजार स्थित कोलकाता पुलिस मुख्यालय में चिंताएं बढ़ने लगी थीं. नारेबाजी और विरोध प्रदर्शन कर रहे पुलिस कर्मियों का कहना था कि कोविड-19 से मुकाबले में उन्हें लगातार ड्यूटी करनी पड़ रही है. एक दिन के लिए भी उन्हें छुट्टी नहीं मिलती.

पुलिसकर्मियों के अनुसार लगातार ड्यूटी से ना केवल उनकी सेहत पर असर पड़ रहा है, बल्कि मानसिक तनाव से गुजरना पड़ रहा है. कुछ देर के बाद लालबाजार स्थित मुख्यालय से शीर्ष अधिकारी मौके पर पहुंचे थे और विरोध प्रदर्शन कर रहे पुलिस कर्मियों से बातचीत कर हालात को संभाला गया था.

कुछ देर के बाद विरोध प्रदर्शन को खत्म कर दिया गया था लेकिन आंदोलनरत पुलिसकर्मियों ने चेतावनी दी है कि उन्हें अगर छुट्टी नहीं मिली तो दोबारा प्रदर्शन करेंगे. बता दें कि इसके पहले राजधानी कोलकाता अथवा पश्चिम बंगाल में कभी भी ऐसा नहीं हुआ कि पुलिसकर्मियों ने इस तरह से विरोध प्रदर्शन किया हो.

वहीं कुछ महीनों पहले राजधानी दिल्ली में इसी तरह से पुलिसकर्मियों ने मुख्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन करते हुए अपनी तमाम मांगे रखी थीं. तब यह घटना बड़े पैमाने पर सुर्खियां बनी थी और अब कोलकाता में भी कमबैट फोर्स के जवानों ने यही राह पकड़ी है.

खास बात यह है कि कोलकाता पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने इस मामले पर चुप्पी साध रखी है और इस पर अभी तक कोई आधिकारिक बयान भी नहीं आया है.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश